कानपुर शूटआउट: बेहरमी से की गयी थी पुलिसकर्मियों की ह्त्या, पोस्टमार्टम रिपोर्ट में हुआ चौंकाने वाला खुलासा

कानपुर, 14 जुलाई: कानपुर में चौबेपुर के बिकरू गाँव में 2 जुलाई को कुख्यात बदमाश विकास दुबे के घर दबिश देनें पहुंची पुलिस पर बदमाशों ने ताबड़तोड़ गोलियां बरसाकर आठ पुलिसकर्मियों को मौत के घाट उतार दिया। शहीद पुलिसकर्मियों की अब पोस्टमार्टम रिपोर्ट आई है जिसमें चौकानें वाला खुलासा हुआ है, जी हाँ! पुलिसकर्मियों की न सिर्फ सिर्फ गोली मारकर हत्या की गई थी बल्कि धारदार हथियारों का भी इस्तेमाल किया गया था।

पोस्टमार्टम रिपोर्ट के मुताबिक, दुर्दांत अपराधी विकास दुबे और उसके साथियों ने सीओ देवेंद्र मिश्रा समेत 8 पुलिसकर्मियों को बड़ी बेरहमी से मारा था, पुलिसकर्मियों को सिर्फ मारना ही नहीं बल्कि बदला लेने का मकसद दिखाई पड़ता है।

पोस्टमार्टम रिपोर्ट में खुलासा हुआ है कि CO देवेंद्र मिश्रा को 4 गोली मारी गईं जिसमें से तीन उनके शरीर से आर-पार हो गई. 1 गोली उनके सिर में, एक छाती में और 2 पेट में लगी थी, सीओ देवेंद्र मिश्रा को न सिर्फ प्वाइंट ब्लैंक रेंज से गोली मारी गयी बल्कि उनका पैर भी काट दिया था।

इसके अलावा 3 पुलिसकर्मियों के सिर पर और 1 के चेहरे पर गोली मारी गई. सभी 8 पुलिसकर्मियों की पोस्टमार्टम रिपोर्ट से ये साफ होता है कि बेहद बेरहमी से सभी की हत्या की गई, तीन पुलिसकर्मियों के शरीर में गोलियों के टुकड़े मिले जो हड्डियों से टकराने से कई टुकड़ों में बंट गए. पोस्टमार्टम के दौरान मिले गोलियों के टुकड़ों को परीक्षण के लिए भेजा जाएगा।

बता दें कि आठ पुलिसकर्मियों की ह्त्या में मुख्य आरोपी विकास दुबे और उसके 5 साथियों को यूपी पुलिस ने एनकाउंटर में ढेर कर दिया जबकि कई अपराधी गिरफ्तार हो चुके हैं, विकास दुबे की गिरफ़्तारी उज्जैन के महाकाल मंदिर में हुई थी. कानपुर के पास एनकाउंटर हुआ।

Sponsored Articles
loading...