जिस JCB से विकास दुबे ने रोका था पुलिस का रास्ता, उसी JCB से मिटटी में मिलाया गया उसका साम्राज्य

कानपुर, 4 जून: कानपुर, गुरूवार ( 2 जुलाई 2020 ) देर रात कानपुर के बिकरू गाँव में बदमाश विकास दुबे और उसके साथी बदमाशों ने रेड मारनें गई पुलिस टीम पर ताबड़तोड़ गोलियां बरसाकर यूपी पुलिस के आठ जवानों को मौत के घाट उतारकर फरार हो गया। पुलिस को रोकने के लिए बदमाश विकास दुबे ने घर से ठीक 20 मीटर की दूरी पर एक जेसीबी खड़ी करवा रखा था ताकि पुलिसवाले सीधा गाडी से घर के पास न पहुँच सकें।

बदमाश विकास दुबे ने जिस जेसीबी से पुलिस का रास्ता रोका था, आज उसी जेसीबी से पुलिस-प्रसाशन ने उसके साम्राज्य को ध्वस्त कर दिया। कार्रवाई के दौरान घर पर मौजूद गाड़ियों, ट्रैक्टर-ट्राली को भी नहीं बख्शा गया। एक-एक कर सब पर जेसीबी चलाई गई। विकास दुबे ने अपनी काली कमाई से जो आलिशान किलानुमा घर बनवाया था पुलिस ने आज उसे मिटटी में मिला दिया।

गौरतलब है कि बदमाशों को दबिश की पूरी जानकारी थी। इसलिए पूरी तैयारी के साथ असलहा लेकर छतों पर बैठे थे और पुलिसवालों का इन्तजार कर रहे थे। विकास दुबे ने घर से ठीक बीस मीटर दूर सड़क के बीचोबीच जेसीबी खड़ी करवाई थी ताकि पुलिसवालों की गाडी सीधा प्रवेश न कर सके। जैसे ही पुलिस की गाडी पहुंची। पुलिसवाले उतरे बदमाशों ने तत्काल ताबड़तोड़ गोलियां बरसानी शुरू कर दी। पुलिसवालों को संभलने का मौक़ा तक नहीं मिला।

बता दें कि कानपुर के चौबेपुर थाना क्षेत्र के विकरू गांव में दबिश देने पहुंची पुलिस टीम पर बदमाशों ने फायरिंग कर दी, इसमें सीओ बिल्हौर सहित 8 पुलिसकर्मी शहीद हो गए हैं। एसओ बिठूर समेत 6 पुलिसकर्मी गम्भीर घायल हैं। सभी घायल पुलिसकर्मियों को गंभीर हालत में रीजेंसी अस्पताल में भर्ती कराया गया है।

कानपुर के राहुल तिवारी नाम के व्यक्ति ने 307 का एक मुकदमा विकास दुबे के ऊपर दर्ज कराया है। इस पर दबिश डालने के लिए एक बड़ी पुलिस टीम गुरुवार की दरम्यानी रात को विकास के घर पहुंची। पुलिस को रोकने के लिए बदमाशों ने पहले से ही जेसीबी वगैरा लगा कर के रास्ता रोक रखा था। पुलिस पार्टी के पहुंचते ही बदमाशों ने छतों से पुलिस टीम पर फायरिंग शुरू कर दी जिसमें पुलिस के 8 लोग शहीद हो गए। पुलिस ने भी मौके पर दो बदमाशों को मार गिराया। एक विकास दुबे का मामा था।

Sponsored Articles
loading...