कानपूर शूटआउट: सामनें आई शहीद CO देवेंद्र मिश्रा की चिट्ठी, हुए कई चौकानें वाले खुलासे

कानपुर, 6 जुलाई: कानपुर के बिकरू गाँव में आठ पुलिसवालों की ह्त्या के मामलें में अब रोजाना नए खुलासे हो रहे हैं, अभी तक जो खुलासे हुए हैं उसमें कुछ पुलिसवालों और बदमाश विकास दुबे के मिलीभगत की ओर साफ इशारा करता है, इसी बीच शहीद सीओ देवेंद्र मिश्रा की एक चिट्ठी सामने आई है। जिसमें चौबेपुर थानें के सस्पेंडेड एसओ विनय तिवारी और विकास दुबे के संबंधों का दावा किया गया है।

मार्च महीने में यह चिट्ठी बिकरू गाँव में शहीद क्षेत्राधिकारी देवेंद्र मिश्रा की ओर से तत्कालीन वरिष्ठ पुलिस अधीक्षक को लिखी गई थी। इसमें कहा गया, 13 मार्च को विकास दुबे के खिलाफ एक मामला पंजीकृत हुआ था। जिसमें विवेचना करने वाले अधिकारी ने धारा बदल दी थी। पत्र में सीओ मिश्रा ने लिखा है कि धारा बदलने के बारे में पूछने पर विवेचक ने बताया कि थानाध्यक्ष के कहने पर धारा हटाई गई है।

शहीद सीओ मिश्रा ने एसएसपी को लिखी चिट्ठी में कहा था कि ऐसे दबंग कुख्यात अपराधी के खिलाफ थानाध्यक्ष द्वारा कार्रवाई नहीं करना और सहानुभूति बरतना संदिग्ध है। यदि थानाध्यक्ष ने अपनी कार्यप्रणाली में बदलाव नहीं किया तो गंभीर घटना हो सकती है।

Image

गौरतलब है कि विकास दुबे के साथ संबंधों का खुलासा होनें के बाद चौबेपुर थानें के थानाध्यक्ष विनय कुमार तिवारी को सस्पेंड कर दिया और एसटीएफ ने अपनीं हिरासत में ले लिया। इसके अलावा चौबेपुर थानें के तीन और पुलिसकर्मियों को सस्पेंड कर दिया गया, कुल मिलाकर पूरा चौबेपुर थाना ही संदेह के घेरे में हैं।

हालाँकि यूपी पुलिस के 8 जवानों को मौत के घाट उतारनें वाला कुख्यात बदमाश विकास दुबे अभी पुलिस की पकड़ से बाहर है, पुलिस और एसटीएफ की अलग-अलग टीमें विकास दुबे की तलाश में जुटी हैं, खबर है कि विकास दुबे सहारनपुर कोर्ट में सरेंडर कर सकता है। वहां भी चौकसी बढ़ा दी गई है। इसके अलावा आशंका जताई जा रही है कि विकास दुबे एमपी और राजस्थान भाग सकता है।

Sponsored Articles
loading...