रामभक्त बनें इकबाल अंसारी, कहा- सुनों KP ओली, हनुमान जी को गुस्सा आ गया तो नेपाल का पता नहीं लगेगा

नई दिल्ली, 15 जुलाई: कभी बाबरी मस्जिद के पक्षकार रहे इक़बाल अंसारी सुप्रीम कोर्ट में परास्त होनें के बाद अब पक्के रामभक्त बन गए हैं, भगवान राम के खिलाफ आवाज उठानें वाले को मुंहतोड़ जवाब देनें से नहीं चूकते हैं, इकबाल अंसारी ने अब नेपाल के प्रधानमंत्री केपी शर्मा ओली पर हमला बोला है जिन्होनें अयोध्या के भगवान राम को नकली बताया था।

नेपाल के प्रधानमंत्री केपी शर्मा ओली को जवाब देते हुए इकबाल अंसारी ने कहा कि भगवान राम के सेवक हनुमान जी को गुस्सा आया तो नेपाल का पता भी नहीं लगेगा कि गया कहां। केपी ओली बेतुका बयान देने से बाज आओ. इकबाल अंसारी ने कहा कि अयोध्या का सम्मान सारी दुनिया के लोग करते हैं, जो आज से नहीं बल्कि पुरातन सभ्यता से चला आ रहा है, अयोध्या धर्म की नगरी है और यहां पर सभी धर्म व जाति के देवी-देवता विराजमान हैं।

आपको बता दें कि नेपाल के प्रधानमंत्री केपी शर्मा ओली की कुर्सी इस समय खतरें में है और एमएमएस भी वायरल हो रहा है, इन सब से ध्यान हटानें के लिए केपी ने भगवान् राम के खिलाफ आपत्तिजनक बयान दे दिया, ओली ने भगवान राम की जन्मभूमि अयोध्या पर ऐसी बात कही है जिसका ना कोई सिर है ना पैर। भगवान राम पर बेतुका बयान देकर वामपंथी ओली अपने देश में ही घिर गए हैं।

नेपाल के प्रधानमंत्री केपी ओली ने अयोध्या के भारत में मानने से ही इनकार कर दिया। ओली ने कहा कि भारत में जो अयोध्या है, वह नकली है जबकि असली अयोध्या तो नेपाल में है। ओली दावा किया कि हमने भारत में स्थित अयोध्या के राजकुमार को सीता नहीं दी, बल्कि नेपाल के अयोध्या के राजकुमार को दी थी। अयोध्या एक गांव है जो बीरगंज के थोड़ा पश्चिम में स्थित है। ओली ने कहा, भारत में बनाया गया अयोध्या वास्तविक नहीं है। केपी ओली के इस बयान की नेपाल में खूब आलोचना हो रहा है।