सुप्रीम कोर्ट पहुंचा विकास दुबे का एनकाउंटर मामला, दायर हुई जनहित याचिका

कानपुर के बिकरू गाँव में आठ पुलिसकर्मियों के हत्यारे विकास दुबे का यूपी एसटीएफ ने एनकाउंटर कर दिया। एनकाउंटर में गंभीर रूप से घायल हुए विकास दुबे की मौत हो गई है। विकास दुबे के एनकाउंटर के बाद बवाल मच गया है और ये मामला सुप्रीम कोर्ट भी पहुँच गया है, जनहित याचिका दायर करके आज ही सुनवाई करनें की मांग की गई है।

याचिकाकर्ता वकील घनश्याम उपाध्याय का कहना है कि वो आज सुनवाई की मांग करेंगे। कल दाखिल याचिका में विकास को एनकाउंटर से बचाने की मांग की गई थी। उसके घर, मॉल को ढहाने के मामले में FIR दर्ज करने, पूरे मामले की जांच CBI को सौंपने की भी मांग की गई है, अब देखना दिलचस्प यह होगा कि सुप्रीम कोर्ट इस मामलें में आज सुनवाई करता है या नहीं।

एसएसपी दिनेश कुमार का कहना है कि गाड़ी पलटने के बाद विकास दुबे पुलिसवालों का हथियार छीनकर भाग निकला। उसे सरेंडर करने का मौका दिया गया था, लेकिन विकास दुबे ने फायरिं शुरू कर दी। जवाबी फायरिंग में उसे गोली लगी और उसकी मौत हो गई है। ये घटना कानपुर से 15 किलोमीटर पहले की है।

बता दें कि विकास दुबे के एनकाउंटर की पुष्टि करते हुए एसएसपी दिनेश कुमार ने कहा कि जैसे ही गाड़ी का एक्सीडेंट हुआ, विकास दुबे घायल पुलिसकर्मी का पिस्टल छीनकर भागने लगा. पुलिस ने कई बार उसे सरेंडर करने के लिए कहा, लेकिन उसने फायरिंग शुरू कर दी. जवाबी कार्रवाई में विकास दुबे को सीने और कमर में गोली लगी।

गौरतलब है की कल उज्जैन पुलिस ने विकास दुबे को महाकाल मंदिर से गिरफ्तार किया था। आठ घंटे पूछताछ करने के बाद यूपी एसटीएफ के हत्थें सौंप दिया। रास्ते में गाडी पलटी और विकास दुबे ने भागनें की कोशिश की इसी दौरान एनकाउंटर में घायल हो गया। अस्पताल में मौत हो गई।

Sponsored Articles
loading...