मोदी सरकार के इस कानून का पहला शिकार हुआ भगोड़ा नीरव मोदी, जब्त की गई 329 करोड़ की सम्पत्ति

नई दिल्ली, 8 जुलाई: पंजाब नेशनल बैंक घोटाले के मुख्य आरोपी और भगोड़े नीरव मोदी नीरव मोदी पर प्रवर्तन निदेशालय ( ED ) ने कड़ी कार्यवाही करते हुए सैकड़ों करोड़ की सम्पत्ति जब्त कर ली।

प्रवर्तन निदेशालय ( ED ) ने बताया कि – भगोड़े और आर्थिक अपराधी नीरव मोदी की तकरीबन 329.66 करोड़ रुपये की संपत्ति को जब्त की गई है, ईडी ने बताया कि नीरव मोदी के खिलाफ यह कार्यवाही भगोड़ा आर्थिक अपराधी (FEO) कानून के तहत की गई है, यह पहली बार है कि इस कानून के तहत संपत्ति को जब्त किया गया है।

बता दें कि – इस कानून को साल 2018 में मोदी सरकार आर्थिक अपराधियों को कानून की प्रक्रिया से छूटने से रोकने के लक्ष्य के साथ लाई थी जिसमें वे भारतीय अदालतों के अधिकार क्षेत्र से बाहर रहकर ऐसा कर सकते थे. नीरव मोदी इस कानून का पहला शिकार हुआ।

ईडी ने FEO एक्ट के तहत नीरव मोदी की जो संपत्ति जब्त की है, ये अब केंद्र सरकार द्वारा जब्त की गयी मानी जायेगी। जब्त की गई प्रॉपर्टी को आदेश जारी होने के 90 दिन बाद नीलामी के लिए रखा जाता है. और इससे जमा गई राशि को सरकारी कोष या अकाउंट में डिपॉजिट किया जाता है, गौरतलब है की, नीरव मोदी पंजाब नेशनल बैंक से हजारों करोड़ रूपये की धोखाधड़ी करके देश छोड़कर फरार हो गया हैं। भारतीय एजेंसियां इन दोनों भगोडों के प्रत्यर्पण में जुटी हैं, जल्द ही सफलता प्राप्त हो सकती है।

Sponsored Articles
loading...