दिग्विजय सिंह ने जताई विकास दुबे के मर्डर की आशंका, कर डाली ये मांग?

ताबड़तोड़ गोलियाँ बरसाकर यूपी पुलिस के आठ जवानों को मौत के घाट उतारनें वाले कुख्यात गैंगस्टर विकास दुबे को आज मध्यप्रदेश के उज्जैन में गिरफ्तार कर लिया पुलिस ने। विकास दुबे को महाकाल मंदिर से सुरक्षा गार्डों ने पकड़कर पुलिस को सौंप दिया, विकास दुबे की गिरफ़्तारी के बाद राजनीति भी तेज हो गई है, कुछ नेता सवाल उठा रहे हैं कि विकास दुबे की गिरफ़्तारी हुई है या आत्मसमर्पण किया है, सरकार को इसे साफ़ करना चाहिए, इन सब के बीच कांग्रेस नेता दिग्विजय सिंह ने विकास दुबे के मर्डर की आशंका जताई है।

विकास दुबे का हो सकता है मर्डर
कांग्रेस के वरिष्ठ नेता दिग्विजय सिंह ने मांग करते हुए कहा कि उत्तर प्रदेश पुलिस के हत्यारा गैंगस्टर विकास दुबे को न्यायिक हिरासत में रखा जाए और सुरक्षा भी मुहैया कराई जाए. उन्होंने कहा कि गैंगस्टर को राजनीतिक संगरक्षण देने वाले ही उसकी हत्या करा सकते हैं।

सुप्रीम कोर्ट की निगरानी में SIT करे विकास दुबे के गिरफ़्तारी की जांच
इसके अलावा दिग्विजय सिंह ने मांग की है कि सुप्रीम कोर्ट की निगरानी में विकास दुबे की गिरफ़्तारी की जांच स्पेशल इन्वेस्टिगेशन टीम ( SIT ) करे। मध्यप्रदेश के पूर्व मुख्यमंत्री दिग्विजय सिंह ने कहा कि विकास दुबे उत्तर प्रदेश का सबसे खतरनाक गैंगस्टर है. उस पर 60 आपराधिक मामले दर्ज हैं जिसमें थाने के अंदर हत्या करना भी शामिल है। अब देखना यह दिलचस्प होगा कि दिग्विजय सिंह की मांग अमल में लाई जाती है या नहीं।

उज्जैन पुलिस ने आठ घंटे की विकास दुबे से पूछताछ।
बता दें कि विकास दुबे को गिरफ्तार करनें के बाद उज्जैन पुलिस ने लगभग 8 घंटे पूछताछ की उसके बाद यूपी पुलिस के सुपुर्द कर दिया, यूपी एसटीएफ की टीम विकास दुबे को उज्जैन से लेकर गुरुवार देर रात लखनऊ के लिए रवाना हो गई। पूछताछ में विकास दुबे ने कई खुलासे किये साथ ही ये भी बताया कि सिर्फ चौबेपुर थानें ही नहीं और अन्य थाने के पुलिसकर्मीं भी संपर्क में थे।, विस्तृत रिपोर्ट यहाँ पढ़ सकते हैं।     

Sponsored Articles
loading...