पाकिस्तानी एजेंट से 5 करोड़ रुपए लेकर JNU गई थी दीपिका, पूर्व रॉ अधिकारी के दावे से मचा हड़कंप

नई दिल्ली, 29 जुलाई: बीते जनवरी महीनें में छपाक फिल्म का प्रमोशन करनें के लिए दिल्ली की जवाहर लाल नेहरू यूनिवर्सिटी ( जेएनयू ) पहुंची बॉलीवुड अभिनेत्री दीपिका पादुकोण को लेकर चौंका देनें वाला खुलासा हुआ है, ये खुलासा पूर्व रॉ अधिकारी एनके सूद ने किया है., दीपिका पर आरोप है कि उन्होंने जेएनयू में प्रदर्शनकारियों के बीच जाकर सिर्फ़ खड़े होने के लिए पाकिस्तानी एजेंट अनिल मुसर्रत से करीब 5 करोड़ रुपए लिए थे। मामला सामनें आने के बाद ईडी अब इसकी जाँच करनें में जुट गई है।

भारतीय खूफिया एजेंसी रॉ के पूर्व अधिकारी एनके सूद का कहना है कि अनील मुसर्रत ने दीपिका पादुकोण को फोन करके जेएनयू जाने के लिए कहा था। पाकिस्तानी एजेंटों के बीच संबंधों का खुलासा होने से ये पूरा मामला गरमाया हुआ है। इसी बीच एनके सूद ने अपनी एक वीडियो में दीपिका के जेएनयू जाने के पीछे छिपे सच से पर्दा उठाया है।

एनके सूद ने अपनी वीडियो में अनील मुसर्रत के पेशे के बारे में बताया और साथ ही ये भी जानकारी दी कि कैसे अनील मुसर्रत पाकिस्तान प्रधानमंत्री इमरान खान का करीबी है। जिसके कारण उसने इमरान खान की पार्टी पीडीआई को भी बहुत समर्थन दिया हुआ है।

एनके सूद के अनुसार, अनील मुसर्रत भारत विरोधी कई सारे गतिविधियों को अपना समर्थन देते हैं और जब लंदन में सीएए विरोधी प्रदर्शन हुए थे तब भी उसने ही उस प्रोटेस्ट को फंडिंग की थी। इसके अतिरिक्त वे फिल्में, जिनमें हिंदू देवी-देवताओं को अभद्रता के साथ दिखाया जाता है, उन्हें भी अनील मुसर्रत फाइनेंस करने को तैयार हो जाते हैं। अनील मुसर्रत से ब्रिटिश प्रशासन ने काफी बार मनी लॉन्ड्रिंग और टेटर फंडिंग जैसे मामलों पर पूछताछ की है।

ऊपर आप सुन सकते हैं कि एनके सूद दीपिका पादुकोण के जनवरी में जेएनयू जाने की बात का जिक्र कर रहे हैं। वे कहते हैं कि दीपिका साल 2020 के जनवरी महीने में जेएनयू गई। वहाँ टुकड़े-टुकड़े गैंग का प्रदर्शन चल रहा था। वह वहाँ उनका समर्थन करने और अपने फिल्म का प्रमोशन करने गई थी। लेकिन उन्होंने ये सब अनील मुसर्रत के कहने पर किया था। पूर्व रॉ अधिकारी ने सोनम कपूर का भी काला चिट्ठा खोला है।

Sponsored Articles
loading...