मौलाना के जनाजे में इकठ्ठा हुए हजारों लोग, सील किये गए 3 गांव, हो सकता है भीषण कोरोना विस्फोट

असम, 5 जुलाई: कोरोना वायरस का प्रकोप देश के कई हिस्सों में अभी जारी है लेकिन कुछ लोग हैं कि सरकार की गाइडलाइन मानने को बिल्कुल तैयार ही नहीं नहीं हैं। न सोशल डस्टेनसिंग का पालन कर रहे हैं न अन्य किसी नियमों का, ऐसा ही एक मामला असम से आया है जहाँ एक मौलाना के जनाजे में सोशल डिस्टेंसिंग की धज्जियां उड़ाते हुए हजारों लोग शामिल हो गए। इसकी सूचना मिलते ही पुलिस परेशान और प्रसाशन हैरान रह गया।

मीडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक, असम के ढिंग से ऑल इंडिया यूनाइटेड डेमोक्रेटिक फ्रंट ( AIUDF ) के विधायक अमिनुल इस्लाम के अब्बा का इंतकाल ( मृत्यु ) हो गया। सरकार की गाइडलाइन के मुताबिक, किसी की मृत्यु के बाद अंतिम यात्रा में मात्र 20-25 लोग ही शामिल हो सकते हैं। लेकिन अमिनुल इस्लाम ने इसका पालन नहीं करवाया।

विधायक अमिनुल के अब्बा की अंतिम यात्रा में हजारों लोग शामिल हुए, हैरानी की बात यह कि मात्र कुछ ही लोगों के चेहरे पर मास्क दिखा बाकि सोशल डिस्टेंसिंग की धज्जिया उड़ाते हुए सभी नजर आये। सूचना मिलनें के बाद प्रसाशन ने 3 गाँवों को सील कर दिया। अगर एक भी कोरोना पॉजिटिव व्यक्ति इस जनाजे में शामिल हुआ होगा तो असम में भीषण कोरोना विस्फोट होनें से कोई नहीं रोक सकता है। क्योंकि अब ज्यादातर कोरोना के मामलें बिना लक्षण वाले आ रहे हैं, इसलिए कोरोना संक्रमित व्यक्ति की लोग पहचान नहीं कर पाते हैं और संपर्क में आ जाते हैं अंत में कोरोना की चपेट में आ जाते हैं।

आपकी जानकारी के लिए बता दें कि कोरोना काल के शुरुवाती दौर में विधायक अमिनुल इस्लाम ने क्वारंटाइन सेंटर्स को लेकर गैर-जिम्मेदाराना बयान देते हुए उसे न केवल डिटेंशन सेंटर बताया बल्कि ये भी कहा कि वहाँ इंजेक्शन देकर लोगों को मारा जाता है। जानकारी के अनुसार इस बयान के बाद अमिनुल इस्लाम पर राष्ट्रद्रोह का केस भी दर्ज हुआ था।

Sponsored Articles
loading...