मुसलमानों के साथ खड़े हैं राहुल-प्रियंका, डॉ कफील खान को रिहा करानें के लिए कांग्रेस ने चलाया अभियान

पिछले कई महीनों से जेल में बंद डॉ कफील खान को रिहा करानें के लिए कांग्रेस पार्टी ने एक अभियान की शुरुवात की है, इस अभियान के तहत लोगों से हस्ताक्षर लेना, भूख हड़ताल, सोशल मीडिया कैंपेन और दरगाहों तक जाना शामिल है, पार्टी का कहना है कि इस अभियान के तहत यूपी के मुसलमानों को बताने का प्रयास भी है कि कांग्रेस उनके साथ खड़ी है।

दिप्रिंट से बात करते हुए कांग्रेस के अल्पसंख्यक प्रकोष्ठ के राष्ट्रीय समन्वयक मिन्नत रहमानी ने कहा कि राज्य में पुलिस ने सीएए-एनआरसी के नाम पर मुसलमानों को गिरफ्तार किया है। हमने डॉक्टर कफील खान की गिरफ्तारी का विरोध करते हुए इसके खिलाफ लड़ने का फैसला किया है, पार्टी नेताओं का कहना है कि मेरठ, मुजफ्फरनगर और संभल सहित घनी मुसलिम आबादी वाले जिलों पर विशेष ध्यान दिया जाएगा।

कांग्रेस के यूपी अल्पसंख्यक प्रकोष्ठ के प्रमुख शाहनवाज आलम ने बताया, हमने शिविर (यूपी के सभी जिलों में) लगाए हैं और हर जिले से लगभग 10,000 हस्ताक्षर जुटाना चाहते हैं और अगले कुछ हफ्तों में उन्हें राज्यपाल को सौंपा जाएगा।

रहमानी ने कहा कि मुसलिमों को पता होना चाहिए कि प्रियंका जी और राहुल जी उनके साथ खड़े हैं, गौरतलब है कि प्रियंका गांधी वाड्रा, यूपी (पूर्व) की प्रभारी महासचिव हैं, उन्होंने सीएए विरोधी प्रदर्शनों के दौरान हुई हत्याओं के बाद पिछले साल दिसंबर में राज्य भर में कई यात्राएं कीं और इसके बाद जनवरी में फिर वहां जाकर जेल में बंद प्रदर्शनकारियों के साथ एकजुटता दिखाई थी।

बता दें कि डॉ कफील खान पर पिछले साल 12 दिसंबर को अलीगढ़ मुस्लिम यूनिवर्सिटी में नागरिकता संशोधन अधिनियम के खिलाफ प्रदर्शन के दौरान भड़काऊ भाषण देने का आरोप है। उत्तर प्रदेश स्पेशल टास्क फोर्स (यूपी एसटीएफ) ने कफील को जनवरी में मुंबई से गिरफ्तार किया था। कफील खान पर राष्ट्रीय सुरक्षा कानून ( NSA ) लगा हुआ है। डॉ कफील खान इस समय मथुरा जेल में बंद हैं।

Sponsored Articles
loading...