बसपा नेता अनुपम दुबे गिरफ्तार, कुख्यात बदमाश विकास दुबे को संरक्षण देनें का आरोप

लखनऊ, 5 जुलाई: कानपुर के बिकरू गाँव में दबिश देनें गई पुलिस पार ताबड़तोड़ गोलियां बरसाकर यूपी पुलिस के 8 जवानों को मौत के घाट उतारकर फरार विकास दुबे का अभी तक कोई सुराग नहीं लग सका है, 60 घंटे से ज्यादा बीत चुके हैं।

पुलिस ने अब इस मामलें में कार्यवाही तेज कर दी है, सीतापुर-हरदोई मार्ग पर रविवार दोपहर चेकिंग के दौरान नैमिषारण्य में गोमती नदी पुल पर दो वाहनों में सवार करीब 12 संदिग्धों को गिरफ्तार किया है। इनमें फर्रुखाबाद के फतेहगढ़ निवासी बसपा नेता अनुपम दुबे व उसके अन्य साथी शामिल हैं। बताया जा रहा है विकास दुबे को अनुपम दुबे संरक्षण देता था। पुलिस फिलहाल अनुपम के विकास दुबे से संबंधों की जांच कर रही है। अभी स्पष्ट नहीं है कि इनका संबंध विकास से है कि नहीं।

मीडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक, गिरफ़्तारी के दौरान अनुपम दुबे और उनके साथियों के पास से नौ अवैध असलहे और भारी मात्रा में कारतूस भी बरामद किये गए हैं। मिश्रिख कोतवाली पुलिस इन संदिग्धों को पूछताछ के लिए सरकारी वाहन से संदना थाने ले गई है। जैसे ही कोई नई जानकारी आएगी तुरंत अपडेट किया जाएगा।

Anupam Dubey BSP Leader

पुलिस ने हिस्ट्रीशीटर विकास दुबे के साथी और वारदात में शामिल बदमाश दयाशंकर अग्निहोत्री को आज तड़के लगभग साढ़े 4 बजे कानपुर नगर के कल्याणपुर के शिवली रोड से जवाहरपुरम को जानें वाली रोड पर पुलिया के पास से गिरफ्तार किया। हालाँकि मुख्य आरोपी विकास दुबे पुलिस की पकड़ से बाहर है।

कुख्यात हिस्ट्रीशीटर विकास दुबे की गिरफ़्तारी के लिए साठ टीमों में 1500 पुलिस कर्मी लगाए गए हैं। क्राइम ब्रांच की 12 टीमें और एसटीएफ की टीमें जगह-जगह दबिश दे रही हैं, बिकरू के आसपास दो दर्जन गांवों में पुलिस ने तलाशी अभियान चलाया। पुलिस ने विकास दुबे पर इनामी राशि बढ़ाकर 50 हजार से एक लाख कर दिया है।

Sponsored Articles
loading...