127 दिन बाद मेरठ जेल से रिहा हुए अमित जानी, 2-2 लाख के 2 जमानत पत्र देकर निकले जेल से बाहर

उत्तर प्रदेश नवनिर्माण सेना के राष्ट्रीय अध्यक्ष अमित जानी पूरे 127 दिनों बाद जेल से रिहा हुए हैं, जानी मेरठ जेल में बंद थे, अमित जानी को एडीजे-19 तबरेज अहमद ने जमानत दी, उसके बाद 2-2 लाख रूपये के 2 जमानत पत्र देकर अमित जानी जेल से बाहर निकले। अमित जानी शिवसेना पश्चिमी यूपी प्रभारी धमेंद्र चौहान पे जानलेवा हमले और शिवसेना दफ्तर में तोड़फोड़ के मामले में कोर्ट से वांछित चल रहे थे, 6 मार्च 2020 को इंचौली पुलिस द्वारा भेजा गया था जेल…10 जुलाई को रिहा हुए।

मेरठ जेल से रिहा होनें के बाद उत्तर प्रदेश नवनिर्माण सेना के राष्ट्रीय अध्यक्ष अमित जानी ने अपने चाहनें वालों को धन्यवाद दिया, अमित जानी ने कहा कि 127 दिन पहले 6 मार्च 2020 को मैं मेरठ जेल भेजा गया था, आरोप था कि मैंने शिवसेना के दफ्तर को तोड़ा, जलाया, शिवसेना के प्रभारी को पिटवाया उसपे जानलेवा हमला किया, ये आरोप तो कोर्ट में साबित होने बाकी है लेकिन कोई ये नही पूछता कि आखिर ये सब क्यों हुआ।

अमित जानी ने अपनें फेसबुक पोस्ट में लिखा, उत्तर प्रदेश, बिहार के लोगो को मुम्बई में क्षेत्रवाद के नाम पे पीटा जा रहा था, उत्तर भारतीयों को कुत्ता और गरीब की जोरू समझ के मारा जा रहा था तब पूरे उत्तर प्रदेश से यूपी बिहार और समस्त उत्तर भारत की आवाज बना था मैं और महाराष्ट्र नवनिर्माण सेना शिवसेना को माकूल जवाब देने के लिए बनी थी “उत्तर प्रदेश नवनिर्माण सेना” बहरहाल बाकी बातें तो लाइव में होंगी फिलहाल इतना कि 127 दिन बाद आज अभी मेरठ जेल से रिहा हुआ हूँ, इस बीच तारीखों पे कई मुकदमे निपटाए, 127 दिन योग समाधि और 3 माह के मौन व्रत में रहकर देवाधिदेव महादेव की रति में लीन रहा, 6 मार्च के जेल जाने से आज 10 जुलाई को रिहाई तक जिन साथियों का सहयोग रहा उन सभी को हार्दिक धन्यवाद एवं आशीर्वाद…

loading...