ड्रैगन के बर्बादी की कहानी शुरू: भारत के बाद अमेरिका ने लिया चीन के खिलाफ ये बड़ा एक्शन

दुनियाभार में कोरोना फैलानें वाले चीन के खिलाफ अब दुनिया के बड़े-बड़े देश उतर चुके हैं। चीन ने पूरी दुनिया में न सिर्फ कोरोना फैलाया बल्कि इसके जरिये अर्थव्यवस्था को भी तगड़ी चोट पहुंचाया। जिसके बाद भारत, अमेरिका, ब्रिटेन जैसे देश चीन के खिलाफ कड़ी कार्यवाही करनें के लिए मजबूर हो रहे हैं।

कोरोना फैलानें के बाद दुनिया का ध्यान भटकानें के लिए चीन भारत के साथ उलझ गया, लद्दाख में LAC पर घुसपैठ करनें की कोशिश करनें लगा। चीनी सेना “पीपुल्स लिबरेशन आर्मी” ने पिछले महीनें गलवान घाटी में भारतीय सेना पर धोखे से हमला कर दिया, हमलें में भारतीय सेना के 20 जवान शहीद हो गए थे, भारतीय सेना ने भी ऑन द स्पॉट जवाब देते हुए 50 से ज्यादा चीनी सैनिकों को मार गिराया लेकिन बेइज्जती के डर से चीन अपने मृत सैनिकों के आंकड़े नहीं जारी कर रहा है।

LAC पर भारतीय सेना चीन को मुंहतोड़ जवाब दे रही है वहीँ भारत सरकार ने चीन के खिलाफ आर्थिक एक्शन लेते हुए कई कॉन्ट्रैक्ट को रद्द कर दिया, चीनी एप बंद कर दिया। भारत की इस कार्यवाही के बाद अमेरिका ने भी चीन के खिलाफ एक्शन लेते हुए Huawei के कर्मचारियों पर वीजा बैन लगा दिया है।

अमेरिका ने Huawei के कर्मचारियों पर वीजा प्रतिबंध लगाने का फैसला किया है, अमेरिका का कहना है कि मानवाधिकार उल्लंघन को ध्यान में रखते हुए यह कार्रवाई की जाएगी। बता दें कि इससे पहले ब्रिटेन (UK) द्वारा चीनी कंपनी Huawei के 5G नेटवर्क के संचालन पर प्रतिबंध लगा चुका है।

अमेरिका के विदेश मंत्री माइक पोम्पियो ने कहा कि वह Huawei पर प्रतिबंध के बीच ब्रिटेन का दौरा भी करेंगे. इससे पहले अमेरिका ने ब्रिटेन द्वारा Huawei के 5G नेटवर्क के संचालन पर प्रतिबंध लगाने का फैसले का स्वागत किया था. पोम्पियो ने कहा था कि ट्रान्साटलांटिक सुरक्षा और समृद्धि के लिए यह फैसला महत्वपूर्ण है। इस तरह से अब ड्रैगन के बर्बादी की कहानी शुरू हो चुकी है, चीन चारों तरफ से घिर चुका है।

loading...