क्वारंटाइन सेंटर में गर्भवती हुई तब्लीगी जमात की 3 महिलाएं, पुलिस परेशान, प्रसाशन हैरान?

तस्वीर साभार - दैनिक जागरण

रांची, 22 जुलाई: वैश्विक महामारी कोरोना वायरस पिछले कई महीनों से देश-दुनिया में जमकर कहर बरपा रही है, सरकार बार-बार मॉस्क लगानें और सोशल डिस्टेंसिंग का पालन करनें की अपील कर रही है, “दो गज दूरी बहुत जरुरी” का नारा भी दिया गया, इन सबके बीच एक हैरान कर देनें वाली खबर आई है, जिसे सुनकर आप हैरान हो जायेंगें। खबर यह है कि क्वारंटाइन सेंटर के अंदर 3 महिलाएं गर्भवती हो गई, ये तीनों महिलाएं तब्लीगी जमात की सदस्य हैं।

क्वारंटाइन सेंटर में गर्भवती हुए तब्लीगी जमात की 3 महिलाएं
मीडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक, गर्भवती हुई तब्लीगी जमाती महिलाएं 111 दिनों से पुलिस और प्रसाशन की निगरानी में पहले क्वारंटाइन सेंटर और फिर जेल में रह रही थी, इसी दौरान गर्भवती हुई, यह हाल तब है जब क्वारंटाइन सेंटर और जेल में मिलने-जुलने की पाबंदी थी, सोशल डिस्टेंसिंग अनिवार्य था।

हाईकोर्ट से जमानत मिलनें के बाद निकले जेल से बाहर
जानकारी के अनुसार, एक महिला का गर्भ अप्रैल माह के अंतिम सप्ताह से लेकर मई माह के पहले सप्ताह के बीच का है। दो महिलाएं इनसे कुछ दिनों पहले की गर्भवती हैं, लेकिन किसी का गर्भ तीन माह तीन माह से अधिक नहीं है, ये मामला तब सामनें आया जब हाईकोर्ट से जमानत मिलनें के बाद तब्लीगी जमाती महिलाएं व् उनके पति समेत 17 विदेशी जेल से बाहर निकले।

जेल में प्रवेश के वक्त दी गर्भवती होनें की जानकारी
क्वारंटाइन सेंटर से जेल में प्रवेश के साथ ही मेडिकल के दौरान तब्लीगी जमात की तीनों महिलाओं ने डॉक्टर को अपने गर्भवती होने की जानकारी दी थी। बाद में अल्ट्रासाउंड रिपोर्ट से यह कंफर्म हो गया कि क्वारंटाइन किए जाने के दौरान ही ये महिलायें गर्भवती हुई हैं।

क्वारंटाइन सेंटर में महिलायें गर्भवती कैसे हो गई
क्वारंटाइन सेंटर में तीन महिलाओं के गर्भवती हो जानें के बाद सवाल यह उठता है कि क्वारंटाइन सेंटर में लोगों को एक दूसरे से मिलने की आजादी नहीं होती वहां ये महिलाएं गर्भवती कैसे हो गई? बता दें कि लॉकडाउन व् वीजा उललंघन के आरोप में कई महिलाओं समेत तब्लीगी जमात के 17 विदेशी नागरिक 30 मार्च को हिरासत में लिए गए थे।

खेलगांव स्थित क्वारंटाइन सेंटर में रखे गए थे।
हिरासत में लिए जानें के बाद इन सभी को रांची के खेलगांव स्थित क्वारंटाइन सेंटर में रखा गया था। इनमें से एक विदेशी महिला कोरोना पॉजिटिव मिली थी, ईलाज कराने के बाद उसे भी खेलगांव स्थित क्वारंटाइन सेंटर में रखा गया था। इसके बाद इनको 18 अप्रैल को खेलगांव में ही न्यायिक हिरासत में ले लिया गया था।

20 मई को जेल भेजी गई थी महिलाएं।
नई दुनिया की रिपोर्ट के मुताबिक, 20 मई को चार विदेशी महिलाएं बिरसा मुंडा केंद्रीय कारागार होटवार में भेज दी गई। जेल नियम के मुताबिक़, जेल में रखनें के पहले मेडिकल जांच और गर्भवती संबंधित जानकारी ली जाती है। उस समय तीनों महिलाओं ने खुद को एक महीने की गर्भवती बताया था, जबकि ये तीनों 50 दिनों से क्वारंटाइन सेंटर में थीं। इसका मतलब ये क्वारंटाइन सेंटर में ही गर्भवती हुई हैं।

साभार-नई दुनिया।

loading...