कुछ मौलाना मुझे दिल्ली दंगे में फंसाने की रच रहे साजिश, मॉब लिंचिंग की भी मिल रही धमकी: उपदेश राणा

नई दिल्ली, 5 जून: बीते फ़रवरी महीनें में नागरिकता संसोधन कानून ( CAA ) और अमेरिका के राष्ट्रपति डोनॉल्ड ट्रम्प की भारत यात्रा के दौरान दिल्ली में कम्युनल दं’गे हुए थे। इस मामलें में दिल्ली पुलिस ने चार्जशीट भी दाखिल कर दी है। इसी बीच युवा हिंदूवादी नेता उपदेश राणा ने आरोप लगाया है की, कुछ मौलाना उन्हें दिल्ली दंगे में फँसाने की साजिश रच रहे हैं। जबकि इस दंगे से उनका दूर-दूर तक कोई नाता-रिश्ता नहीं है।

युवा हिंदूवादी नेता उपदेश राणा ने बेस्ट हिंदी न्यूज़ को बताया की, जिस दिन से दिल्ली में दं’गे हुए हैं, उसी दिन से जो मेरा फेसबुक पेज पर वायरल नंबर है, उसकी फर्जी चैट बनाई गई। तभी से कुछ मौलाना लगातार टीवी पर बोल रहे हैं कि दिल्ली में दं’गे उपदेश राणा ने कराए, राणा ने ही गोलियां पहुंचाई, राणा ने ही लड़के भेजें।

उपदेश राणा ने आगे कहा की, मुझ पर लगाए जा रहे यह सभी आरोप बेबुनियाद है, मैंने साइबर क्राइम में उस मौलाना के खिलाफ मुकदमा भी दर्ज करा दिया है। लेकिन फिर भी मुझे बेवजह निशाना बनाया जा रहा है। इसके अलावा उपदेश राणा ने कहा की, मुझे लगता है कि, मुझे कभी भी मॉब लिंचिंग का शिकार बनाया जा सकता है, टीवी चैनल पर लगातार दंगे में मेरा नाम लेने के बाद मुझे मॉब लिंचिंग की धमकियां दी जा रही है।

उपदेश राणा ने एक वीडियो उपलब्ध कराया है। वीडियो न्यूज़ नेशन टीवी न्यूज़ चैनल का है, वीडियो में मौलाना साजिद रशीदी साफ़-साफ़ कह रहे हैं की, आपने देखा होगा की किस तरीके से उन दंगो ( दिल्ली दंगे ) के अंदर उपदेश राणा का रोल रहा था ऊपर कोई बात करनें की नहीं तैयार है। मौलाना साजिद रशीदी ने आगे कहा की, कितने लड़के उसने ( उपदेश राणा ) भेजे, किन-किन गाँव से आये और कितने लड़के वापस गए, कितने नहीं। इसपर कोई बात ही नहीं कर रहा है।


गौरतलब है की, अमेरिकी राष्ट्रपति डोनॉल्ड ट्रम्प की भारत यात्रा के दौरान CAA के विरोध विरोध में दिल्ली दंगे हुए थे, अब दंगे की चार्जशीट दिल्ली पुलिस ने दिल्ली की कड़कड़डूमा कोर्ट दाखिल कर दी है, करीब एक हजार पन्नों की चार्जशीट में ताहिर हुसैन और उसके भाई शाह आलम सहित 15 लोगों को आरोपी बनाया गया है, दिल्ली पुलिस के मुताबिक़, दिल्ली में दंगे करानें के लिए ताहिर हुसैन ने 1 करोड़ 30 लाख रूपये खर्च किये थे। चार्जशीट दाखिल होनें के बावजूद मौलाना साजिद रशीदी उपदेश राणा को जिम्मेदार ठहरा रहे हैं।

बता दें कि – उपदेश राणा क’ट्ट’र हिंदू’वादी छवि के युवा उभरते हुए नेता हैं। सोशल मीडिया और जमीनी स्तर पर अच्छी पकड़ है। देश के हर राज्य में लगभग उपदेश राणा के कार्यक्रम अनवरत चलते रहते हैं।..इसलिए उपदेश राणा की सुरक्षा के लिहाज से पुलिस को बड़े कदम उठाने चाहिए, ताकि मॉब लिंचिंग जैसी कोई अप्रिय घटना न घट सके।

loading...