कोरोना संकट में गरीब-जरूरतमंदों की मदद कर रहे सोनू सूद पर भड़की शिवसेना, संजय राउत बोले- ये..?

मुंबई, 7 जून: मुंबई, कोरोना वायरस के कारण देश में लॉकडाउन लगनें के बाद से ही बॉलीवुड एक्टर सोनू सूद पूरे तन-मन और धन के साथ प्रवासी मजदूरों एवं अन्य जरूरतमंदों की मदद करनें में जुट गए। सोशल मीडिया हो या अख़बार की सुर्खियां हर जगह सोनू सूद ही छाये हैं। हालाँकि सोनू सूद की ये सेवा शिवसेना को रास नहीं आई है। शिवसेना नेता संजय राउत ने सोनू सूद पर निशाना साधा है।

महाराष्ट्र में सत्तारूढ़ शिवसेना ने अपने मुखपत्र ‘सामना’ में एक्टर सोनू सूद के मदद कार्य पर सवाल उठाते हुए निशाना साधा है। संजय राउत ने सामना में लिखा है की, लॉकडाउन के दौरान अचानक सोनू सूद नाम का एक महात्मा तैयार हो गया है, इतने झटके और चतुराई के साथ किसी को महात्मा बनाया जा सकता है।

इसके अलावा संजय राउत ने ‘सामना’ में सोनू सूद द्वारा प्रवासी मजदूरों को बस में भेजनें के लिए आये पैसों पर सवाल उठाते हुए भाजपा पर निशाना साधा है। राउत ने लिखा है की, बीजेपी के नेताओ ने सोनू सूद को प्यादा बनाकर ठाकरे सरकार को नाकाम दिखाने की कोशिश की है।

गौरतलब है की सोनू सूद अपनें निजी खर्चे से प्रवासी मजदूरों को मुंबई से उनके घर पहुंचा रहे हैं। अबतक कई हजार मजदूरों को सोनू सूद उनके गंतव्य तक पहुंचा चुका है। सोशल मीडिया हो या अख़बार की सुर्खियां हर जगह सोनू सूद ही छाये हैं। महाराष्ट्र के राज्यपाल भगत सिंह कोशियारी खुद सोनू सूद की तारीफ कर चुके हैं। हालाँकि ये सब शिवसेना को बिल्कुल पसंद नहीं आ रहा है।

 

loading...