गुड़ न्यूज़: समय से पहले भारत को 6 राफेल विमान सौंपेगा फ्रांस,…चीन की उड़ी नींद

नई दिल्ली, 29 जून: लाइन ऑफ़ एक्चुअल कण्ट्रोल ( LAC ) पर भारत चीन के बीच चल रही तनातनी के बीच फ्रांस ने भारत को समय से पहले लड़ाकू विमान राफेल को सौंपनें का फैंसला किया है।

जानकारी के अनुसार, चीन के साथ ताजा हालात को देखते हुए भारतीय वायुसेना के स्पेशल रिक्वेस्ट के बाद फ्रांस राफेल विमानों को समय से पहले भारत भेजेगा।

टाइम्स नाउ के मुताबिक़, अंबाला एयरबेस पर 27 जुलाई को छह राफेल लड़ाकू विमानों की पहली खेप आयेगी। पहले 4-6 विमानों को पहली खेप में आना था। वैसे भारतीय वायुसेना की ओर से इसकी पुष्टि नहीं की गई है, लेकिन एक जानकार अफसर ने बताया- समय से काफी पहले भारत को राफेल मिल रहे हैं। बताया जा रहा है कि तीन ट्विन-सीटर ट्रेनर एयरक्राफ्ट और एक सिंगल-सीटर लड़ाकू विमान सहित पहले चार विमान जुलाई के अंत तक अंबाला एयरबेस पर पहुंचेंगे।

आपकी जानकारी के लिए बता दें कि भारत ने फ्रांस के साथ साल 2016 में 36 राफेल लड़ाकू विमानों की डील की थी। यह डील तकरीबन 59 हजार करोड़ रुपये की थी। राफेल को लेकर कांग्रेस ने जमकर राजनीति भी की थी, मामला सुप्रीम कोर्ट में भी गया. हर जगह से क्लीन चिट मिल गई, पिछली साल दशहरे पर रक्षामंत्री राजनाथ सिंह ने फ्रांस में जाकर राफेल विमान का शाश्त्र पूजन भी किया था।

भारत को राफेल मिलनें की खबर सुनकर चीन की नींद हराम हो गई है, चीन से बढ़ते तनाव के बीच भारत सरकार ने एम-777 होवित्जर तोपों के स्पेशल गोले खऱीदने के लिए अमेरिका से संपर्क किया है। इन सबको देखकर लगता है कि भारत चीन को मुंहतोड़ जवाब देने के लिए हर तरह से तैयार हो रहा है। इससे पहले भारत सरकार ने सेना को हथियार ख़रीदनें के लिए 500 करोड़ का आपात फंड जारी कर दिया है।

loading...