पालघर लिंचिंग: लग गया मृतक संतों का श्राप, पीट-पीटकर हत्या करनें वाले 11 आरोपी कोरोना पॉजिटिव

पालघर, 16 जून: बीते अप्रैल महीनें में महाराष्ट्र के पालघर में पुलिस के सामने दो संत और उनके ड्राइवर की पीट-पीटकर ह्त्या कर दी गयी थी। अब अपराधियों पर संतों का श्राप लगा है। जी हाँ! संतों की हत्या के मामले में गिरफ्तार लोगों में से 11 व्यक्ति कोरोना वायरस से संक्रमित पाए गए हैं, महाराष्ट्र पुलिस ने यह जानकारी दी है।

पुलिस ने जानकारी देते हुए बताया की पालघर के गढ़चिंचले गांव भीड़ ने कार से मुंबई से सूरत जा रहे दो साधुओं और उनके चालक की पीट-पीट कर हत्या कर दी थी। इस मामले में कुल 156 लोगों को गिरफ्तार किया गया था। सभी आरोपियों को न्यायिक हिरासत में ले लिया गया है, लेकिन उन्हें विभिन्न पुलिस हवालातों में रखा गया है, क्योंकि पालघर जेल में काम चल रहा है।

पालघर के एक पुलिस अधिकारी ने बताया कि वाड़ा में पुलिस हवालात में रखे गए 17 आरोपियों की हाल में जांच की गई, जिनमें से 11 लोग संक्रमित पाए गए और छह अन्य की जांच के परिणाम का इंतजार किया जा रहा है। इससे पहले भी एक आरोपी कोरोना संक्रमित पाया गया था।

गौरतलब है की, जूना अखाडा और मृतक संतों के रिश्तेदारों ने सुप्रीम कोर्ट में याचिका दायर करके कहा था की हमें महाराष्ट्र पुलिस की जांच पर भरोसा नहीं है, इसलिए सीबीआई और एनआईए से इसकी जांच कराइ जाय। याचिका पर सुनवाई करते हुए सुप्रीम कोर्ट ने महाराष्ट्र सरकार को नोटिस भेजकर जवाब माँगा है।