कमलेश तिवारी हत्याकांड के दो आरोपी युसूफ खान और आसिम अली पर लगा NSA, अब नहीं मिलेगी बेल

लखनऊ, 22 जून: हिंदूवादी नेता कमलेश तिवारी हत्याकांड के दो आरोपियों युसूफ खान और आसिम अली पर राष्ट्रीय सुरक्षा कानून ( NSA ) लगा दिया है।

कमलेश तिवारी की ह्त्या के आरोप में जेल की हवा खा रहे युसूफ खान और सैय्यद आसिम अली ने अदालत में अपनीं जमानत की अर्जी लगाई थी, जैसे ही इस बात की जानकारी लखनऊ के जिलाधिकारी ( डीएम ) अभिषेक प्रकाश को मिली उन्होनें तुरंत दोनों आरोपियों पर NSA लगा दिया। NSA लगनें के बाद लखनऊ जेल में बंद दोनों आरोपियों को अब जमानत नहीं मिलेगी। जेल में ही रासुका की नोटिस भेजी जायेगी। युसूफ खान ही वो आरोपी है जिसनें कमलेश के हत्यारों को पिस्टल उपलब्ध करवाया था।

मालूम हो कि 18 अक्‍टूबर 2019 को कमलेश तिवारी की उनके घर में घुसकर हत्‍या कर दी गई थी. शुरुआत में इस हत्‍याकांड में पुलिस ने गुजरात से तीन और उत्‍तर प्रदेश से दो लोगों को गिरफ्तार किया गया था। उसके बाद पुलिस कमलेश के असली कातिल मोईनुद्दीन और अशफाक को भी दबोच लिया था।

हिन्दू समाज पार्टी के नेता कमलेश तिवारी हत्याकांड मामलें में उत्तर प्रदेश पुलिस पहले ही चार्जशीट दायर कर चुकी है जिसमें 13 लोगों को आरोपी बनाया है। आरोपितों में शामिल अशरफ और मोइनुद्दीन पर हत्‍या के आरोप लगाए गए हैं। इन दोनों के खिलाफ हत्‍या का मुकदमा चलेगा। अन्‍य आरोपियों के खिलाफ अन्‍य धाराओं में मुकदमा चलाया जाएगा।

यूपी पुलिस ने जो चार्जशीट दायर की थी उसमें अशफाक हुसैन, मोइनुद्दीन पठान रशीद, फैजान मेम्बर, मोहसिन सलीम शेख, सैय्यद आसिफ अली, कैफी अली, मोहम्मद नावेद, रईस अहमद, मोहम्मद आसिफ रजा, मोहम्मद कामरान अशरफ, यूसुफ खान और मोहम्मद जाफर को आरोपित बनाया गया है। इनके खिलाफ एसआइटी ने हत्या, आपराधित साजिश रचने, साक्ष्य छिपाने, हत्यारोपितों को संरक्षण देने, जाली दस्तावेज बनाने, धोखाधड़ी, आर्म्स एक्ट और आइटी एक्ट के आरोप तय किये गए हैं।