भारत के समर्थन में उतरीं नेपाल की सांसद सरिता गिरी, नेपाल सरकार के नए नक़्शे का किया विरोध

काठमांडू, 11 जून: नेपाल की सांसद सरिता गिरी ने नेपाल सरकार के नए और विवादित नक़्शे का विरोध किया है। सरिता ने कहा की, ये सब चीन के इशारे पर हो रहा है।

गौरतलब है की नेपाल सरकार भारत विरोधी विवादित नक़्शे को क़ानूनी रूप देनें के लिए संविधान संसोधन कर रही है, पंरतु जनता समाजवादी पार्टी की सांसद सरिता गिरी ने इसका विरोध किया है। उन्होनें इस प्रस्ताव को खारिज करनें की मांग की है। सरिता ने कहा है की, नेपाल के पास नए नक़्शे में जो क्षेत्र जोड़े गए हैं उनका पर्याप्त प्रमाण नहीं है। सरिता गिरी ने कहा की, ये सब चीन के इशारे पर हो रहा है।

नेपाल सरकार के नक़्शे का विरोध करनें के बाद सांसद सरिता गिरी पर रात में जानलेवा हमला भी हुआ, साथ ही उनकी पार्टी जनता समाजवादी पार्टी भी उनका साथ नहीं दे रही है।

बता दें की, नेपाल ने नया नक्शा जारी किया है, इस नक़्शे में नेपाल ने भारत के कुछ क्षेत्रों लिपुलेख दर्रा, कालापानी एवं अन्य कई को अपनीं सीमा के अंदर दर्शाया है, ये सभी इलाके में उत्तराखंड में हैं। हालाँकि जबतक संवैधानिक तौर पर इस नक़्शे को मान्यता न मिलती तब तक इस नक़्शे का कोई मतलब नहीं है। सिर्फ कागजों तक सिमट कर रह जाएगा।