जौनपुर: दलित पीड़िता ने बयॉं किया घटना वाली रात का खौफनाक मंजर, सुनकर दहल जाएगा दिल

जौनपुर, 13 जून: हाल ही में उत्तर प्रदेश के जौनपुर में मामूली सी बात पर समुदाय विशेष के सैकड़ों लोगों ने दलित बस्ती पर धावा बोल दिया। कई घरों को आग के हवाले कर दिया, जमकर तोड़फोड़ की। इस मामलें में यूपी पुलिस ने ताबड़तोड़ कार्यवाही करते हुए 35 लोगों को गिरफ्तार कर लिया। इस घटना का मास्टरमाइंड सपा नेता जावेद सिद्दीकी बताया जा रहा है, जो गिरफ्तार हो चुका है।

एक दलित पीड़िता ने घटना वाली रात का खौफनाक मंजर बयां किया हैं, जिसे सुनकर आपके रोंगटे खड़े हो जायेंगें। जी हाँ! अगर दलित बस्ती के लोग भागे न होते तो दंगाई जिन्दा जलाकर राख कर डालते।

दलित पीड़िता पू’जा ने मी’डिया से बा’त करते हुए बता’या की, हम लो’ग घर के अं’दर थे, जब मा’र होने लगी तो हम लोग और अं’दर च’ले गए। जब अं’दर चले गए तो स’ब लोग द’रवा’जा तो’ड़ने लगे, ईंट-पत्थ’र से मा’र’ने ल’गे, बाहर गोली च’ल’ने ल’गी। गो’ली च’ल’ने ल’गी तो ह’म लो’ग ड’र से बा’हर नहीं नि’क’ले। डर से ज’ब नहीं नि’क’ले तो वे लो’ग (दं’गाई) चारों तरफ से आ’ग ल’गा दिए। ह’म लो’ग अंदर प’ड़े थे। ज’ब वे लोग आ’ग लगाक’र चले गए तब ह’म लोग किसी रास्ते से निकलकर अपनी जान बचाकर दूसरे गॉंव चले गए। रात भर हम’लोग दू’सरे गॉं’व में थे।

पीड़िता पूजा ने आगे कहा की, हमलोग बहुत ड’र गए थे क्योंकि उन’लो’गों की संख्या ह’जार-पॉं’च सौ की थी। इससे हम लोग ब’हुत ज्या’दा ड’र गए। पह’ले ला’ठी-डंडा से मार र’हे थे। जब उस’से ड’र गए तो ईंट-पत्थर चला’ने लगे। उस’के बाद गोली चल’ने ल’गी। कि’सी की गा’ड़ी लूट लिए। दु’कानें थी, पै’से-कौड़ी, गह’ने भी ले लिए। जि’सके पा’स जे’वर था ले लिए। सारे सा’मान ले गए।

महिला ने जो आप’बीती बता’ई उसे सु’नकर आप अंदा’जा लगा सकते है की जब चारों ओर से घेरकर उन’पर ह’मला किया गया होगा तो उस समय द’लितों की क्या स्थि’ति रही होगी। पू’जा ने कहा की, उनके पा’स खा’ने पी’ने को कु’छ न’हीं है, उन’को अ’भी यो’गी सर’कार खा’ना पानी दे र’ही है और वो यो’गी सरकार के काम से संतु”ष्ट हैं।

क्या है पूरा मामला।
जौनपुर के सरायख्वाजा थाना क्षेत्र के भदेही गाँव में मंगलवार ( 9 जून 2020 ) शाम को भैंस चरानें के विवाद में दो समुदाय के लोगों के बीच झगड़ा हो गया। प्रधानपति आफताब उर्फ हिटलर ने उस वक्त झगड़े को शांत करा दिया। पीड़ितों का आरोप है कि रात आठ बजे प्रधानपति, उसके लड़के व सलीम ने 400-500 लोगों के साथ दलित बस्ती पर हमला बोल दिया।

पीड़ित के मुताबिक़, हमलावरों ने नंदलाल, नींबूलाल, फिरतू, राजाराम, जीतेन्द्र, सेवालाल सहित 12-13 लोगों के मड़हों में आग लगाकर तोड़फोड़ की। कई वाहनों को भी नुकसान पहुंचाया गया, आग की चपेट में आने से तीन बकरियों व एक भैंस की मौत हो गई। डीएम व एसपी मंगलवार रात ही घटना की सूचना मिलने के बाद मौके पर पहुंच गए थे. प्रसाशन ने पीड़ितों को 5000 रुपये और राशन उपलब्ध कराया।

पुलिस अधीक्षक ( एसपी ) ने जानकारी देते हुए बताया कि भदेठी कांड में 35 लोगों की गिरफ्तारी हो चुकी है. डीएम ने कहा कि यह बहुत बड़ी घटना है. जिन लोगों के मकान जलाए गए हैं उनकी सुरक्षा, रहने व खाने-पीने की व्यवस्था प्रशासन करेगा।

वहीँ इस पूरे मामलें पर मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ सख्त हो गए हैं। सीएम ने आरोपियों पर तत्काल एनएसए लगानें का आदेश दिया है। बता दें की, इस पूरी घटना के मास्टरमाइंड नूर आलम और जावेद सिद्दीकी हैं, जावेद सपा नेता भी है अखिलेश यादव से करीबी सम्बन्ध बताये जा रहे हैं इसके।