भारत-चीन विवाद: मायावती ने जताया मोदी सरकार पर भरोसा, विपक्षियों को दी नसीहत

लखनऊ, 22 जून: लद्दाख में लाइन एक्चुअल कंट्रोल ( LAC ) पर एक ओर जहाँ भारत और चीन सेना के बीच तनातनी जारी है तो वहीँ दूसरी ओर इस मुद्दे को लेकर देश में राजनीति भी जारी है। कांग्रेस पार्टी लगातार मोदी सरकार पर सवाल खड़ा कर रही है। अब इस मुद्दे पर बसपा प्रमुख मायावती का बयान आया है।

उत्तर प्रदेश की पूर्व मुख्यमंत्री मायावती ने भारत-चीन के बीच चल रहे विवाद को लेकर मोदी सरकार पर भरोसा जताया है साथ ही विपक्ष को एकजुटता दिखानें की अपील की है।

मायावती ने अपनें ट्वीट में लिखा- अभी हाल ही में 15 जून को लद्दाख में चीनी सेना के साथ हुए संघर्ष में कर्नल सहित 20 सैनिकों की मौत से पूरा देश काफी दुःखी, चिन्तित व आक्रोशित है। इसके निदान हेतु सरकार व विपक्ष दोनों को पूरी परिपक्वता व एकजुटता के साथ काम करना है जो देश-दुनिया को दिखे व प्रभावी सिद्ध हो।

दूसरे ट्वीट में मायावती ने लिखा, ऐसे कठिन व चुनौती भरे समय में भारत सरकार की अगली कार्रवाई के सम्बंध में लोगों व विशषज्ञों की राय अलग-अलग हो सकती है, लेकिन मूल रूप से यह सरकार पर छोड़ देना बेहतर है कि वह देशहित व सीमा की रक्षा हर हाल में करे, जो कि हर सरकार का दायित्व भी है।

गौरतलब है कि कांग्रेस पार्टी भारत-चीन विवाद को लेकर लगातार केंद्र सरकार पर सवाल खड़ा कर रही है। कांग्रेस के पूर्व अध्यक्ष राहुल गांधी ने तो प्रधानमंत्री को सरेंडर मोदी तक कह दिया।

Sponsored Articles
loading...