चीन के फेंके पैसों पर घुँघरू बांधकर नाच रही नेपाल सरकार, ऐसे नक्शों से फर्क नहीं पड़ता: मेजर पुनिया

नई दिल्ली, 13 जून: नेपाल की संसद ने देश के नक़्शे को संसोधित करनें वाले महत्वपूर्ण विघेयक को पास कर दिया है। ये विधेयक भारत विरोधी है। नए नक़्शे को लेकर भारत और नेपाल के बीच बातचीत भी हो रही थी लेकिन नेपाल सरकार ने नक़्शे से सम्बंधित विधेयक को संसद में पेश करके पास करा दिया। इसके साथ ही भारत और नेपाल के बीच बातचीत के सभी दरवाजे बंद हो गए।

नेपाल की संसद में नक़्शे से सम्बंधित विधेयक पारित होनें के बाद पाकिस्तानी पत्रकार हामिद मीर ने भारत सरकार और भाजपा पर तंज कसा, हामिद को मेजर सुरेंद्र पुनिया ने करारा जवाब देते हुए कहा की, पाकिस्तान और नेपाल सरकार चीन के फेंके हुए पैसों पर घुँघरू बांध कर नाच रहे हैं। लेकिन याद रखना, चीन नचाने के बाद नाचने वालों के कपड़े भी उतारता है।

दरअसल पाकिस्तानी पत्रकार हामिद मीर ने ट्वीट कर कहा की, हिंदू बहुल देश नेपाल की संसद ने बीजेपी के नेतृत्व में हिंदुस्तान से विद्रोह किया और सर्वसम्मति से देश के नक्शे को फिर से तैयार करने के लिए एक बिल पारित किया, जिसमें हिंदुस्तान के कब्जे वाले क्षेत्र शामिल हैं। मीर ने आगे लिखा, यह साबित करता है कि अहंकारी भाजपा ही हिंदुस्तान के लिए खतरा बन गई है।

हामिद मेरे को जवाब देते हुए भाजपा नेता मेजर सुरेंद्र पुनिया ने अपनें ट्वीट में लिखा, मीर साहब, नेपाल की कम्युनिस्ट सरकार चाहे तो कितने भी नक़्शे बदल दे, बिल पास कर दे..उससे हिन्दुस्तान की संप्रभुता पर फ़र्क़ नहीं पड़ता, Nepal सरकार और पाकिस्तान दोनों चीन के फेंके पैसों पर घुँघरू बांध कर नाच रहे हैं। याद रखना चीन नचाने के बाद नाचने वालों के कपड़े भी उतारता है।

बता दें की, नेपाल संसद ने नक़्शे में संसोधन सम्बंधित जो विधेयक पास किया है उसमें नेपाल सरकार ने भारत के कुछ क्षेत्रों लिपुलेख दर्रा, कालापानी एवं अन्य कई को अपनीं सीमा के अंदर दर्शाया है, ये सभी इलाके में उत्तराखंड में हैं।

Sponsored Articles
loading...