जो कांग्रेसी गांधी परिवार के चरणों में गिरता है उसी की इज्जत होती है कांग्रेस में: सुशांत सिन्हा पत्रकार

नई दिल्ली, 28 जून: पत्रकार सुशांत सिन्हा का मानना है कि जो कांग्रेसी नेता सबसे ज्यादा गांधी परिवार के सामनें नतमस्तक होता है उसकी उतनी ही इज्जत कांग्रेस पार्टी में होती है। सुशांत सिन्हा ने ये बातें पत्रकार रुबिका लियाकत के एक ट्वीट को रीट्वीट करते हुए कही।

दरअसल आज यानि 28 जून को कांग्रेस के नेता और भारत के पूर्व प्रधानमंत्री स्व। पी वी नरसिम्हा राव की जयंती है। जन्म शताब्दी वर्ष के मौक़े पर पीएम मोदी ने नरसिम्हा राव को याद किया जबकि कांग्रेस ने याद नहीं किया। इसके बाद एबीपी न्यूज़ की एंकर और पत्रकार रुबिका लियाकत ने ट्वीट कर कहा- कांग्रेस नेता और पूर्व प्रधानमंत्री पी वी नरसिम्हा राव की जन्म शताब्दी वर्ष के मौक़े पर पीएम मोदी ने किया याद- कांग्रेस क्यूँ पीछे?

रुबिका लियाकत के ट्वीट को रीट्वीट करते हुए इण्डिया टीवी के एंकर और पत्रकार सुशांत सिन्हा ने कहा कि कांग्रेस में इस बात की अहमियत नहीं कि किसने देश के लिए क्या किया, अहमियत इस बात की है कि कौन गांधी परिवार के सामने कितना नतमस्तक हुआ।

पत्रकार ने ट्वीट में आगे लिखा, राव साहब ने देश के लिए खुद को समर्पित रखा, ‘परिवार’ के लिए नहीं और इसीलिए उन्हें वो सम्मान नहीं दिया कांग्रेस पार्टी ने। ना जीते जी, ना मरने पर और ना आज।

बता दें कि – पामुलापति वेंकट नरसिम्हा राव ने वर्ष 1991 में राजीव गांधी की हत्या के बाद देश के नौवें प्रधानमंत्री बने थे। राव की कैबिनेट में ही मनमोहन सिंह वित्त मंत्री बने। पीवी नरसिम्हा राव को भारत में आर्थिक सुधारों की नीति की शुरुआत और ‘लाइसेंस राज’ की समाप्ति के लिए याद किया जाता है।

राव ने 21 जून 1991 से 16 मई 1996 तक देश की सत्ता संभाली। हालांकि कांग्रेस पार्टी ने उनसे धीरे-धीरे दूरी बनाई और हाशिए पर धकेल दिया। इसकी मुख्य वजह पार्टी की अंदरूनी खेमेबाजी और सोनिया गांधी से नापसंदगी बताई जाती है। शायद इसीलिए कांग्रेस आज उन्हें याद नहीं कर रही है।

loading...