सफूरा जरगर सहित दिल्ली दं’गे के कई आरोपियों को रवीश कुमार ने विक्टिम साबित कर दिया: दीपक चौरसिया

नई दिल्ली, 13 जून: नागरिकता संसोधन कानून ( CAA ) के विरोध में और अमेरिकी राष्ट्रपति डोनॉल्ड ट्रम्प की भारत यात्रा के दौरान फ़रवरी 2020 में दिल्ली में कम्युनल दं’गें हुए थे, दिल्ली पुलिस ने दं’गे में शामिल होनें और साजिश रचनें के आरोप में कई लोगों को गिरफ्तार किया है, आरोपियों में कुछ महिलाएं भी शामिल हैं। जो गिरफ्तार हुई हैं.

दिल्ली दं’गें के आरोपियों को विक्टिम साबित करनें के लिए एनडीटीवी के पत्रकार रवीश कुमार ने मोर्चा संभाल लिया है, ऐसा हम नहीं बल्कि पत्रकार दीपक चौरसिया का कहना है, वरिष्ठ पत्रकार दीपक चौरसिया ने रवीश कुमार की पत्रकारिता पर सवाल उठाते हुए कहा की, दिल्ली दंगे के आरोपियों को रवीश कुमार ने विक्टिम ( पीड़ित ) साबित कर दिया। इसके अलावा चौरसिया ने तंज कसते हुए कहा की, हे भगवान मुझे इतना बुद्धजीवी क्यों नहीं बनाया?

न्यूज़ नेशन के कंसल्टिंग एडिटर दीपक चौरसिया ने अपनें ट्वीट में लिखा, आज (12 जून 2020 ) को गलती से रवीश कुमार का प्राइम टाइम देखा। रवीश ने दिल्ली दंगें के आरोपी सफूरा जरगर, नताशा और देवांगाना को विक्टिम ( पीड़ित ) साबित कर दिया। क्या इंसाफ है? दीपक ने आगे लिखा, ये भी साबित कर दिया कि दिल्ली पुलिस की FIR एक कलपित कहानी है जिसे नोबेल पुरस्कार मिले। हे भगवान मुझे इतना बुद्धजीवी क्यों नहीं बनाया?

गौरतलब है की दिल्ली पुलिस ने सफूरा जरगर को फ़रवरी 2020 में दिल्ली में हुए दं’गे में शामिल होनें के आरोप में गिरफ्तार किया है, सफूरा जरगर की कोर्ट से तीन बार जमानत याचिका खारिज हो चुकी है। गैरक़ानूनी गतिविधि रोकथाम अधिनियम ( UAPA) के तहत सफूरा की गिरफ़्तारी हुई है। सफूरा जरगर तीन महीनें की गर्भवती भी हैं।

कौन हैं नताशा और देवांगाना
बता दें कि, CAA के विरोध में दिल्ली में हुई हिंसा मामलें में दिल्ली पुलिस ने नताशा और देवांगाना नाम की दो लड़कियों को गिरफ्तार किया है, ये दोनों लडकियां पिंजरा तोड़ नामक संगठन से ताल्लुक रखती हैं।

मालूम हो की, दिल्ली पुलिस ने दिल्ली दं’गे की चार्जशीट दिल्ली के कड़कड़डूमा कोर्ट में दाखिल कर दी है, करीब एक हजार पन्नों की चार्जशीट में आम आदमी पार्टी के निलंबित पार्षद ताहिर हुसैन और उसके भाई शाह आलम सहित 15 लोगों को आरोपी बनाया गया है. दिल्ली पुलिस के मुताबिक़, दिल्ली में दं’गे करानें के लिए ताहिर हुसैन ने 1 करोड़ 30 लाख रूपये खर्च किये थे।

loading...