पत्रकार अमन चोपड़ा ने लाइव डिबेट में की उदित राज की बेइज्जती, नहीं दे पाए एक भी सवालों का जवाब

नई दिल्ली, 22 जून: लद्दाख की गलवान घाटी में 15 जून को भारत और चीनी सेना के बीच हुई झड़प को लेकर देश में राजनीति तेज हो गई है। कांग्रेस पार्टी लगातार केंद्र सरकार पर हमलावर है, कुछ कांग्रेसी नेता तो भारतीय सेना पर भी सवाल उठानें से नहीं चूक रहे हैं, इन्हीं में से एक हैं उदित राज, जी हाँ! इन दिनों उदित राज बेलगाम हो चुके हैं, जो मन कर रहा है वो ट्वीट कर रहे हैं, बोल रहे हैं। लेकिन जी न्यूज़ के पत्रकार अमन चोपड़ा ने लाइव डिबेट में उदित राज की बोलती बंद कर दी, सारी हेकड़ी निकाल दी।

दरअसल आज यानि 22 जून को जी न्यूज़ के शो ‘ताल ठोक के’ में भारत-चीन के बीच चल रही तनातनी को लेकर बहस हो रही थी, इस बहस में सेना के कई रिटायर्ड अधिकारी, भाजपा प्रवक्ता राजीव प्रताप रूडी और कांग्रेस प्रवक्ता उदित राज भी हिस्सा लिए थे, उदित राज तो सेना को खूब उल्टा-सीधा बोल रहे थे।

भारतीय सेना के प्रति उदित राज का बेहूदा रवैया देखनें के बाद एंकर और पत्रकार अमन चोपड़ा ने जानना चाहा आखिर उदित राज कितनें बड़े ज्ञानी हैं, जो मन में आ रहा है बोलते चले जा रहे हैं, इसके एवज में चोपड़ा ने उदित राज के सामने 3 साधारण सवाल रखे परन्तु उदित राज एक भी सवालों का जवाब नहीं दे पाया, इसके बाद अमन चोपड़ा ने उदित राज को लाइव डिबेट शो से भगा दिया।

पत्रकार अमन चोपड़ा ने पहले उदित राज से पूछा DSDBO रोड क्या है, जिसपर विवाद था, उसी का फुल फॉर्म बता दीजिये, आप बहुत ज्ञानी आदमी हैं। उदित राज फुल फ़ॉर्म नहीं बताये। इसके बाद चोपड़ा ने पूछा, गलवान नदी का उद्गम स्थल क्या है, ये सवाल सुनते ही उदित राज बौखला गए और बोले जियोग्राफी ( भूगोल ) पर बहस नहीं कर रहे हैं। आखिरी और अंतिम सवाल अमन चोपड़ा ने उदित राज से पूछा, चीनी सेना PLA ( पीपुल्स लिबरेशन आर्मी ) का कमांडर कौन है। उदित राज ये भी नहीं बता पाए। इस तरह से उदित राज एक भी सवाल का जवाब नहीं दे पाए।

इसके बाद अमन चोपड़ा ने उदित राज को डपटते हुए कहा कि अनपढ़ लोग बिना पढ़े लिखे आ जाते है सेना को गाली देने। चोपड़ा ने उदित राज से पूछा, गलवान घाटी का कितना हिस्सा LAC के उस तरफ, कितना हिस्सा LAC के इस तरफ, डिफेन्स बॉर्डर एग्रीमेंट क्या है। कांग्रेस नेता उदित राज कुछ नहीं बता पाए।

पत्रकार अमन चोपड़ा ने कांग्रेस नेता उदित राज को लाइव शो में लताडनें के बाद भगा दिया, कहा- हटाइये इनको स्क्रीन से, कुछ नहीं पता है इन्हें। इसके बाद अमन चोपड़ा ने कहा, मेरी गलती है जो मैंने इनको डिबेट में लाया। चोपड़ा ने कहा, सेना का अपमान किसी भी में बर्दाश्त नहीं होगा। उदित राज सेना के अधिकारियों को जो उल्टा-सीधे बोले थे, उसके लिए अमन चोपड़ा ने सेना के अधिकारियों से माफ़ी मांगी।

DSDBO रोड और फुलफॉर्म

बता दें कि DSDBO का फुलफॉर्म “दारबुक-श्योक-दौलत बेग ओल्डी” है। इस रोड में कुल आठ पुल बनने हैं। इस रोड के बन जाने से लेह और दौलत बेग ओल्डी के बीच की दूरी महज छह घंटे में पूरी हो सकती है। मीडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक, इसी सड़क को लेकर भारत-चीन के बीच विवाद है।

गलवान नदी.
चीन के संदर्भ में गलवान नदी के क्षेत्र का बेहद दर्दनाक इतिहास है। पीपल्स लिबरेशन आर्मी ( PLA ) ने जुलाई 1962 में भारतीय सेना के पोस्ट को घेर लिया था। यह उन घटनाओं में से एक थी जिनके बाद चीन और भारत के बीच हुए भयानक युद्ध की नींव रखी गई थी। 1962 में गलवान के आर्मी पोस्ट में 33 भारतीय सैनिक शहीद हो गए थे और कई दर्जनों को बंदी बना लिया गया था।

LAC क्या है
भारत-चीन के बीच की 4057 किमी लंबी सरहद को वास्तविक नियंत्रण रेखा (LAC) कहा जाता है। दोनों देशों के बीच मौजूद एलएसी भारतीय राज्य लद्दाख, जम्मू-कश्मीर, उत्तराखंड, हिमाचल, सिक्किम व अरुणाचल प्रदेश से होकर गुजरती है। एलएसी का कोई स्पष्ट या आधिकारिक निर्धारण नहीं है। यही वजह है कि इसे लेकर हमेशा विवाद की स्थिति बनी रहती है। वर्ष 1962 के युद्ध के बाद चीनी सेना जहां मौजूद थी, उसे ही वास्तविक नियंत्रण रेखा (LAC) मान लिया गया। इसी युद्ध में चीन ने भारत के अधिकार क्षेत्र वाले अक्साई चीन पर कब्जा कर लिया था। यही वजह है कि अंतरराष्ट्रीय समुदाय LAC को नहीं मानता है।