राहुल गांधी को सैनिकों की शहादत पर राजनीति न करनें की सलाह देनें वाले घायल सैनिक का परिवार गायब

अलवर, 21 जून: कांग्रेस के पूर्व अध्यक्ष राहुल गांधी को गलवान घाटी में शहीद हुए भारतीय सैनिकों पर राजनीति न करनें की नसीहत देने वाले घायल सैनिक सुरेंद्र सिंह का परिवार गायब हो गया है। दरअसल सुरेंद्र सिंह गलवान घाटी में चीनी सेना के साथ झड़प में घायल हो गए थे।

भाजपा नेता और पूर्व केंद्रीय मंत्री राज्यवर्धन सिंह राठौर ने इस मामलें में राजस्थान की कांग्रेस सरकार से ट्वीट कर पूछा कि अलवर ज़िले के सिपाही सुरेंद्र सिंह के पिता ने राहुल गांधी को देशभक्ति की सलाह क्या दी, राजस्थान का सत्ताशीन कांग्रेस प्रशासन सैनिक के घर पहुंचकर उनपर दबाव बनाना शुरू कर दिया। मतलब की अब आप सैनिक के वृद्ध पिता को डरा धमकाकर राजनीति करेंगे?

मीडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक, राहुल गाँधी पर बयान देने के बाद घायल सैनिक का परिवार अचानक से कहाँ भूमिगत हो गया है, इस सम्बन्ध में कुछ पता नहीं चल सका है। परिवार के अलवर स्थित मकान पर टाला लटका हुआ है। बयान देने के बाद एसडीएम, पुलिस और प्रशासन घायल सैनिक के घर पहुँचा था। वहाँ पर घायल सैनिक के माता-पिता और भाई में से कोई नहीं मिला। घर पर ताला लटका हुआ, परिवार के सभी सदस्यों का मोबाइल फोन भी स्विच ऑफ मिला।

सुरेंद्र के हवाले से ही गलवान घाटी में हुए भारत-चीन झड़प की कहानी सामने आई थी। इसके बाद रामगढ़ और अलवर के पुलिस अधिकारियों का बलवंत सिंह के घर पर जमावड़ा लग गया था। पुलिस अधिकारी कह रहे हैं कि उन्हें इस बारे में कुछ नहीं पता कि सैनिक का परिवार कहाँ गया है।

बता दें कि – गलवान घाटी में घायल हुए भारतीय सेना के जवान सुरेंद्र सिंह के पिता ने वीडियो जारी कर कहा था कि ये भारतीय सेना मजबूत सेना है। चीन को हरा सकती है। और भी देशों को हरा सकती है। राहुल गाँधी, आप नेतागिरी मत करना। ये राजनीति अच्छी नहीं है। मेरा छोरा पहले भी फौजी में लड़ा। अब फिर लड़ेगा शेर की तरह। भगवान करे ठीक हो जाए तो फिर लड़ेगा देश के लिए।

Sponsored Articles
loading...