कांग्रेस ने कहा- अपना ये वादा पूरा करें केजरीवाल, ताकि कोरोना वरियर्स का मनोबल न टूटे

नई दिल्ली, 15 जून: दिल्ली में कोरोना वायरस का प्रकोप जारी है। रोजाना एक हजार से ज्यादा कोरोना केसेज आ रहे हैं। दिल्ली में दिन-प्रतिदिन हालात बिल्कुल भयावह होते चले जा रहे हैं। केंद्रीय गृहमंत्री अमित शाह ने सोमवार को दिल्ली में कोरोना वायरस के हालात को लेकर सर्वदलीय बैठक की, इस मीटिंग में सभी पार्टियों के नेता शामिल हुए थे।

बैठक ख़त्म होनें के बाद दिल्ली कांग्रेस के अध्यक्ष अनिल चौधरी ने बताया की, गृहमंत्री ने स्वीकार किया है की, टेस्टिंग का अधिकार सभी को होना चाहिए और सभी देशों में टेस्टिंग और ट्रेसिंग पॉलिसी के माध्यम से ही उपचार संभव है, चौधरी ने जानकारी ने दी की गृहमंत्री अमित शाह ने आश्वासन दिया है कि एक नई ट्रेसिंग पॉलिसी के तहत सभी को टेस्टिंग का अधिकार होगा।

इसके बाद दिल्ली कांग्रेस के चीफ अनिल चौधरी ने कहा की दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविन्द केजरीवाल ने कोरोना वरियर्स के परिजनों के लिए 1 करोड़ रुपये का मुआवजा प्रदान करने की घोषणा की थी। लेकिन वह मुआवजा अभी तक प्रदान नहीं किया गया है। हमने अनुरोध किया है कि वो मुआवजा जल्द से जल्द प्रदान किया जाए ताकि वे अपना मनोबल न खोएं।

आपको बता दें की दिल्ली में कोरोना से संक्रमित मरीजों के लिए बेड की कमी को देखते हुए केंद्र की मोदी सरकार ने तुरंत 500 रेल्वे कोच दिल्ली को देने का निर्णय लिया है। इन रेलवे कोच से न सिर्फ दिल्ली में 8000 बेड बढ़ेंगे बल्कि यह कोच कोरोना संक्रमण से लड़ने के लिए सभी सुविधाओं से लेस होंगे।

केंद्रीय गृहमंत्री अमित शाह ने बताया की दिल्ली के निजी अस्पताओं में कोरोना संक्रमण के इलाज के लिए निजी अस्पतालों के कोरोना बेड में से 60% बेड कम रेट में उपलब्ध कराने, कोरोना उपचार व कोरोना की टेस्टिंग के रेट तय करने के लिए डॉ. पॉल की अध्यक्षता में एक कमेटी बनाई गयी है जो कल तक अपनी रिपोर्ट प्रस्तुत करेगी।

loading...