रूस में 545,458 हुई कोरोना मरीजों की संख्या, अबतक 7200 से ज्यादा ने तोडा कोरोना से दम

पूरी दुनिया में कई महीनों से कहर बरपा रहा कोरोना वायरस अब रूस में भी विकराल रूप धारण कर चुका है। रूस में कोरोना मरीजों की संख्या साढ़े 5 लाख के करीब पहुँच चुकी है, रूस में पिछले 24 घंटों के अंदर कोरोना वायरस (Covid-19) के +8,248 नए मामलें आए, वहीँ इस जानलेवा महामारी से +193 लोगों की मौत हो गई, इसके साथ ही रूस में कोरोना मरीजों की संख्या बढ़कर 545,458 हो गई है जबकि इस जानलेवा वायरस से मौत का आंकड़ा बढ़कर 7,284 हो गया है।

रूस में 545,458 कोरोना मरीजों में से 294,306 लोग कोरोना से जंग जीतकर अपनें घर जा चुके हैं तो वहीँ 243,868 लोगों का अभी भी ईलाज जारी है, रूस अबतक 15,395,417 कोरोना टेस्ट कर चुका है, हालाँकि रूस का रिकवरी रेट भारत से कम है, अर्थात भारत में ज्यादा कोरोना मरीज ठीक हो रहे हैं जबकि रूस में थोड़ा कम।
बता दें कि – पिछले लगभग 2 हफ्ते से रूस में औसतन रोजाना दस हजार से ज्यादा कोरोना के पॉजिटिव केस आ रहे हैं, अगर ऐसा ही चलता रहा तो रूस को भी अमेरिका की तरह बड़ी त्रासदी झेलनी पड़ेगी। अमेरिका में रोजाना 20 हजार से ज्यादा कोरोना के नए केस आ रहे हैं।

कोरोना से सबसे ज्यादा रूस की राजधानी मॉस्को प्रभावित है, मॉस्को में 1569 से ज्यादा नए कोरोना केस आने के बाद यहाँ कोरोना मरीजों की संख्या 1 लाख के पार कर चुकी है।

शुरुवात में रूस के प्रधानमंत्री मिखाइल मिशुस्तिन भी कोरोना पॉजिटिव हो गए थे, हालाँकि ईलाज के बाद ठीक हो गए, प्रधानमंत्री के कोरोना संक्रमित होने के बाद रूस के राष्ट्रपति ब्लादिमीर पुतिन भी आइसोलेशन में चले गए थे, पुतिन की कई बैठकों में प्रधानमंत्री लगातार मौजूद थे। इसलिए उन्होंने आइसोलेट किया कर लिया था खुद को। हालाँकि टेस्ट के बाद पुतिन की रिपोर्ट निगेटिव आई, इसके बाद रूस ने थोड़ा राहत की सांस ली। हालाँकि राष्ट्रपति पुतिन के प्रवक्ता अभी भी कोरोना से जंग लड़ रहे हैं।