विश्वासपात्र नहीं है चीन: गलवान घाटी में चीनी सैनिकों ने फिर बनाये नये पोस्ट?

लद्दाख, 24 जून: चीन ने आख़िरकार बता दिया है कि उसपर विश्वास करना बहुत घातक हो सकता है, धोखा देना चीन के डीएनए में हैं। जी हां! चीनी सैनिकों ने गलवान घाटी में फिर से नए पोस्ट बना लिए हैं, बताते चलें कि गलवान घाटी में ही 15 जून को भारत और चीनी सेना के बीच खूनी झड़प हुयी थी, इस हिंसक झड़प में भारतीय सेना के 20 जवान शहीद हुए थे वहीँ 43 चीनी सैनिकों के भी मारे जानें की खबर सामनें आई।

गौरतलब है कि बता दें कि – चीन एक तरफ बातचीत में पीछे हटने का वादा करता है तो दूसरी तरफ सैनिक और हथियार बढ़ाकर युद्ध जैस हालात पैदा करता है। मीडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक़, गलवान घाटी में चीनी सैनिकों ने फिर नए बना लिये हैं। पेट्रोलिंग पॉइंट के पास 15-16 जून की रात की घटना के बाद जिस पोस्ट को भारतीय सैनिकों ने उखाड़ फेंका था, उसे फिर बना लिया गया है। पीपी-15, पीपी-17 और पीपी17-ए पर भारतीय सैनिक भी डटे हुये हैं। दौलत बेग ओल्डी सेक्टर के पीछे चाइनीज पीपी-10 और पीपी-13 पर भारतीय सैनिकों की पट्रोलिंग रोकने की कोशिश कर रहे हैं।

फिंगर एरिया सहित पूरे लाइन ऑफ एक्चुअल कंट्रोल पर चीन सेना और रक्षा उपकरण बढ़ा रहा है। लद्दाख के फिंगर इलाके में चीनी सैनिक अपनी पकड़ मजबूत बनाने की कोशिश कर रहे हैं।

सूत्रों के मुताबिक़, भारत ने भी यहां अपनी ताकत बढ़ा दी है। बुधवार को एक बार फिर आसमान में भारत के लड़ाकू विमान गरजते रहे तो जमीन पर भारतीय जांबाज दुश्मन की हर चुनौती का जवाब देने को तैयार हैं।

loading...