कांग्रेस नेता उदित राज ने कहा- सोनू सूद के खिलाफ होनी चाहिए सीबीआई जांच

नई दिल्ली, 12 जून: कोरोना वायरस के कारण देश में लॉकडाउन लगनें के बाद से ही बॉलीवुड एक्टर सोनू सूद पूरे तन-मन और धन के साथ प्रवासी मजदूरों एवं अन्य जरूरतमंदों की मदद करनें में जुट गए। सोशल मीडिया हो या अख़बार की सुर्खियां हर जगह सोनू सूद ही छाये हैं। शिवसेना नेता संजय राउत के बाद अब कांग्रेस नेता उदित राज ने सोनू सूद की समाजसेवा पर सवाल उठाया है, यही नहीं, उदित राज ने सीबीआई जांच कराने की मांग तक कर डाली।

कांग्रेस नेता उदित राज ने कहा की, सोनू सूद की इस फिल्म का निर्देशक कोई और है, यह कार्य राजनीति से प्रेरित है, इस फर्जीवाड़े के खुलासे के लिए सोनू सूद के खिलाफ सीबीआई जांच होनी चाहिए। पूर्व सांसद ने आगे कहा की, अजीम प्रेमजी कोरोना की लड़ाई में दुनिया के तीसरे नंबर के डोनर हैं, मीडिया उनको क्यों नहीं दिखा रहा है, सोनू सूद को ही क्यों दिखा रहा है।

सोनू सूद पर हमला बोलते हुए उदित राज ने कहा की, अभी तक नेता ही गणित बैठाते थे लेकिन सोनू सूद तो नेताओं के भी बाप निकल गए हैं, उदित राज ने कहा की, सोनू सूद 70 हजार मजदूरों को भेजने का दावा कर रहे हैं, मान लो 20 हजार ट्रेन से भेजे होंगें, 50 हजार बसों से भेजे गए होंगें। तो हर बस का नंबर दें और हर बस का कोई न कोई लीडर होगा उसका नाम और नंबर दें। उदित राज ने यह भी कहा की। सोनू सूद की समाजसेवा के पीछे भाजपा है, ये सब बातें उदित राज ने एक यु-ट्यूब चैनल से बातचीत के दौरान कही।

बता दें की, इससे पहले शिवसेना नेता संजय राउत ने एक्टर सोनू सूद के मदद कार्य पर सवाल उठाते हुए सामना में लिखा था की, लॉकडाउन के दौरान अचानक सोनू सूद नाम का एक महात्मा तैयार हो गया है, इतने झटके और चतुराई के साथ किसी को महात्मा बनाया जा सकता है। राउत ने यह भी कहा था की, बीजेपी के नेताओ ने सोनू सूद को प्यादा बनाकर ठाकरे सरकार को नाकाम दिखाने की कोशिश की है।गौरतलब है की सोनू सूद अपनें निजी खर्चे से

गौरतलब है कि, सोनू सूद प्रवासी मजदूरों को मुंबई से उनके घर पहुंचा रहे हैं। अबतक कई हजार मजदूरों को सोनू सूद बस और ट्रेन के जरिये उनके गंतव्य तक पहुंचा चुके है।