राकेश सिन्हा ने ट्वीट कर किया मनमोहन सिंह पर हमला, कहा- आप देशभक्त बनिये, परिवार भक्त नहीं

नई दिल्ली, 22 जून: भारत और चीन के बीच लाइन ऑफ़ एक्चुअल कंट्रोल ( LAC ) पर चल रही तनातनी को लेकर अब पूर्व प्रधानमंत्री और कांग्रेस के वरिष्ठ नेता डॉ मनमोहन सिंह ने भी चुप्पी तोड़ते हुए कहा कि पिछलग्गू सहयोगियों द्वारा प्रचारित झूठ के आडंबर से सच्चाई को नहीं दबाया जा सकता…पूर्व प्रधानमंत्री के इस बयान पर प्रतिक्रिया देते हुए भाजपा सांसद राकेश सिन्हा ने कहा – कहा- आप देशभक्त बनिये, परिवार भक्त नहीं।

आरएसएस विचारक और भाजपा के राज्यसभा सांसद प्रो. राकेश सिन्हा ने अपनें ट्वीट में लिखा, आदरणीय मनमोहन सिंह जी ये समय परिवार भक्ति का नहीं देशभक्ति का है। एक वीडियो के जरिये राकेश सिन्हा ने कहा कि मनमोहन सिंह जी का पत्र कुछ भी नहीं है! ये सोनिया गांधी और राहुल गांधी द्वारा देश में जो एक भ्रम फैलानें की कोशिश की गयी थी उसी को ढकनें का, वैधानिकता देने का एक प्रयास मात्र है।

20 सैनिकों का बलिदान व्यर्थ नहीं जाएगा।
भाजपा सांसद राकेश सिन्हा ने आगे कहा कि – मनमोहन सिंह जी को मैं आश्वस्त करना चाहता हूँ कि हमारे 20 सैनिकों का बलिदान व्यर्थ नहीं जाएगा। उन्होंने कहा, प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी जिस कल का नेतृत्व कर रहे हैं उसका 1962 में ही संकल्प लिया था कि हम अक्साई चीन यानि 38 हजार वर्ग किलोमीटर जमीन जिसे नेहरू के काल में चीन ने हड़पा था उसे वापस लेंगें।

कांग्रेस के पास कोई नीति नहीं है
सिन्हा ने कहा, वास्तव में कांग्रेस के पास कोई चीन नीति ही नहीं है, यदि होती तो मनमोहन सिंह को देश को जवाब देना चाहिए कि जो इंफ्रास्टक्चर पीएम नरेंद्र मोदी ने 2014 से 2020 के बीच में विकसित किया भारत चीन सीमा पर, जिसके कारण आज चीन बौखला रहा है, उन्होंने अपने कार्यकाल में क्यों नहीं विकसित किया।

हमारी सक्षमता, छमता और हमारी संकल्प शक्ति भारतीय सेना के साथ है
राकेश सिन्हा ने कहा कि – मनमोहन सिंह सरकार में रक्षामंत्री एके एंटनी ने संसद में कहा कि चीन के मुकाबले हमारा कोई भी इंफ्रास्टक्चर भारत-चीन सीमा पर नहीं था तो क्या वे चीन के प्रति रहम बरत रहे थे या चीन का मुकाबला करनें की तैयारी कर रहे थे. भाजपा सांसद ने कहा, हमारी सक्षमता, हमारी छमता, और हमारी संकल्प शक्ति भारतीय सेना के साथ है, कांग्रेस पार्टी ऐसे संवेदनशील समय में जब सरकार चीन का मुकाबला करनें में हर कदम उठा रही है तब भ्रम फैलानें की कोशिश न करे, यह समय एकता का है, यह समय एकजुटता का है।

भारत-चीन के बीच तनातनी को लेकर पूर्व पीएम डॉ मनमोहन सिंह का बयान
बता दें कि – भारत-चीन तनातनी पर पूर्व प्रधानमंत्री और वरिष्ठ कांग्रेस नेता डॉ मनमोहन सिंह ने एक बयान जारी कर कहा कि हम सरकार को आगाह करेंगे कि भ्रामक प्रचार कभी भी कूटनीति तथा मजबूत नेतृत्व का विकल्प नहीं हो सकता। पिछलग्गू सहयोगियों द्वारा प्रचारित झूठ के आडंबर से सच्चाई को नहीं दबाया जा सकता…प्रधानमंत्री को अपने शब्दों व ऐलानों द्वारा देश की सुरक्षा एवं सामरिक व भूभागीय हितों पर पड़ने वाले प्रभाव के प्रति सदैव बेहद सावधान होना चाहिए। पूरा बयान नीचे पढ़ सकते हैं।

Image