केजरीवाल जैसे मस्जिद के इमामों को 18000 सैलरी दे रहे हैं वैसे मंदिर के पुजारियों को भी दें: BJP MLA

नई दिल्ली, 2 जून: कोरोना वायरस (Covid-19) संकट के बीच भाजपा विधायक (BJP MLA) रामवीर सिंह विधूड़ी ( Ramvir Singh Bidhuri) ने दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविन्द केजरीवाल (Arvind Kejriwal Delhi CM) को पत्र लिखकर मांग की है की, दिल्ली वक्फ बोर्ड द्वारा जिस प्रकार मस्जिद ( Masjid ) के इमामों को हर महीनें 18000 रूपये सैलरी दी जा रही है वैसे ही मंदिर के पुजारियों को भी सैलरी दी जाय ताकि कोरोना संकट के दौरान उनकी रोजी-रोटी चल सके।

दिल्ली की बदरपुर विधानसभा सीट से भाजपा विधायक रामवीर सिंह विधूड़ी (Ramvir Singh Bidhuri) ने दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविन्द केजरीवाल को भेजे गए पत्र में लिखा है की, कोरोना (Covid-19) महामारी संकट के कारण पैदा हुई स्थितियों ने प्रत्येक व्यक्ति के जीवन को प्रभावित किया है, दिहाड़ी मजदूरों से लेकर कारोबारियों व् वेतनभोगी कर्मचारियों तक की आय प्रभावित हुई है।

भाजपा विधायक (BJP MLA) ने पत्र में लिखा है की, कोरोना संकट के मद्देनजर मंदिर, गुरुद्वारों, चर्चों आदि को भी बंद कर दिया गया है। इसका परिणाम यह हुआ की, इन उपासना स्थलों पर पूजा-पाठ, प्रार्थना एवं भजन आदि करनें वालों के समक्ष रोजी-रोटी का संकट खड़ा हो गया है। मंदिरों में दक्षिणा मिल नहीं रही और पूरे नवरात्र में भी इनकी कोई आय नहीं हो पाई, इसी प्रकार शादी-विवाह के आयोजन भी स्थगित हो जाने से भी इनकी आय बुरी तरह प्रभावित हुई है।

भाजपा विधायक (BJP MLA) ने आगे लिखा की, मेरा आपसे ( दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविन्द केजरीवाल ) से आग्रह है की, जिस प्रकार मस्जिद (Masjid) के इमामों को दिल्ली वक्फ बोर्ड (Delhi waqf board) 18 हजार रूपये प्रतिमाह वेतन दे रहा है, कम से कम उतनी ही आर्थिक मदद (Financial aid) प्रतिमाह मंदिरों, जैन मंदिरों व् बौद्ध मठों के पुजारियों, गुरुद्वारों के ग्रंथियों तथा चर्चों के पादरियों को भी दी जाय। ताकि संकट के समय में इनका गुजारा हो सके। मुझे भरोसा है की, मेरे सुझाओं पर ध्यान देते हुए इस मामलें में आप ( केजरीवाल ) जल्द ही आवश्यक कार्यवाही करेंगें।

आपकी जानकारी के लिए बता दें की, दिल्ली सरकार के अधीन आने वाला दिल्ली वक्फ बोर्ड मस्जिद के इमामों को हर महीनें 18 हजार और मुअज्जिनों को 16 हजार रूपये सैलरी देता है।

loading...