हाथ चूमकर ईलाज करनें वाले असमल की कोरोना से मौत, जाते-जाते 29 लोगों को कर गए संक्रमित

रतलाम, 11 जून: देशभर में कोरोना वायरस का प्रकोप जारी है, इसी बीच मध्यप्रदश के रतलाम से एक हैरान कर देने वाली खबर सामने आई है। जी हाँ! हाथ चूमकर ईलाज करनें वाले मौलाना असलम की कोरोना से मौत हो गई। मौलाना की मौत के बाद हड़कंप मच गया। क्योंकि जाते-जाते असलम 29 लोगों को कोरोना संक्रमित कर गए।

मीडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक, असलम नाम के एक व्यक्ति की बीते 4 जून को कोरोना वायरस के कारण मौत हो गई. असलम की मौत के बाद प्रसाशन ने उसके सम्पर्क में आये लोगों को ढूढ़कर क्वारंटाइन करा दिया। सभी के सैम्पल लेकर जांच के लिए भेजे गए। रिपोर्ट आई तो हड़कंप मच गया। क्योंकि 29 लोग कोरोना पॉजिटिव पाए गए। ये सभी असलम के सम्पर्क में आये थे।

बताया जा रहा है की, असलम रतलाम के नयापुरा में झाड़फूंक करता था और ताबीज देता था। अंधविस्वास में फंसकर भारी संख्या में लोग असलम के पास झाड़फूंक करवाने आते थे, ख़बरों के अनुसार, असलम झाड़फूंक के दौरान कभी-कभी लोगों के हाथ भी चूमता था। इसी वजह से असलम के संपर्क में आये 29 लोग कोरोना पॉजिटिव पाए गए।

कोरोना वायरस के कारण असलम की की मौत के बाद पुलिस-प्रसाशन ऐसे झाड़फूंकर ईलाज करनें वाले अन्धविश्वाश के आकाओं के खिलाफ सख्त हो गया है। सभी तांत्रिकों और मौलानाओं को उठाकर सीधे कारण्टीन में भेजा जा रहा है।  फिलहाल प्रसाशन अभी भी असलम के सम्पर्क में आये लोगों की तलाश करनें में जुटा है। असलम के सम्पर्क में आये ज्यादातर लोग कोरोना संक्रमित हो सकते हैं।

एक साथ 29 लोगों के कोरोना पॉजिटिव मिलनें के बाद प्रसाशन ने नयापुरा को कोरोना हॉटस्पॉट घोषित कर दिया। इस पूरे मामलें पर रतलाम के चीफ मेडिकल ऑफिसर ( सीएमओ ) डॉक्टर परभकार ननावारे का कहना है की, असलम के सम्पर्क में आये लोगों का पता लगाकर उन्हें क्वारंटाइन किया जा रहा है और उनका सैम्पल लेकर जांच के लिए भेजा जा रहा है।

Sponsored Articles
loading...