एम्स के डायरेक्टर का बड़ा बयान, इस महीनें के अंत तक धीमी हो सकती है कोरोना की रफ्तार

नई दिल्ली, 25 जून: देश-दुनिया में कोरोना वायरस पिछले कई महीनों से जमकर कहर बरपा रहा है। भारत में लॉकडाउन के दौरान कोरोना की रफ़्तार धीमी थी, अनलॉक-1 होते ही कोरोना की रफ़्तार बढ़ी है। अब लोगों के मन में एक ही सवाल उठ रहा है कि आखिर ये खतरनाक वायरस ख़त्म कब होगा। इन सब के बीच एम्स के डॉयरेक्टर डॉ रणदीप गुलेरिया ने बड़ा बयान दिया है कोरोना को लेकर।

अखिल भारतीय आयुर्विज्ञान संस्थान (एम्स) के डायरेक्टर डॉ रणदीप गुलेरिया ने कहा है कि भारत कोरोना महामारी की दूसरी लहर के लिए संवेदनशील है। गुलेरिया का मानना है कि हॉटस्पॉट में सीमित लॉकडाउन पर विचार करना चाहिए। इसके साथ ही डॉ रणदीप गुलेरिया ने दावा किया है कि कोरोना की रफ़्तार जुलाई के अंत या अगस्त की शुरुआत तक धीमी हो सकती है. यानि कि लगातार ऊपर जा रहा ग्राफ थम सकता है।

एम्स के डायरेक्टर ने इटली और स्पेन जैसे यूरोपीय देशों के साथ भारत की तुलना ना करने की अपील की है। उन्होंने कहा कि 10 प्रमुख शहरों पर सबसे ज्यादा ध्यान दिया जाना चाहिए जो कि मामलों की वृद्धि में सबसे बड़े कारण बने हुए हैं. डॉ गुलेरिया ने कहा- लोगों को कम से कम एक साल के लिए सोशल डिस्टेंसिंग, मास्क पहनने जैसी अन्य सावधानियों का पालन करना जरूरी है।

बता दें कि – भारत में पिछले 24 घंटे में कोरोना लगभग 17 हजार नए केस आये। इसके साथ भारत में कोरोना मरीजों की संख्या बढ़कर 4,74,272 हो गई है। अबतक इस खतरनाक महामारी से 14,914 लोगों की मौत हो चुकी है।1,87,369 केस एक्टिव है जबकि 2,71,934 लोग कोरोना से जंग जीतकर अपने घर जा चुके हैं।

Sponsored Articles
loading...