8 साल की भूखी बच्ची से किया गैंगरेप, अब्दुल जफर (68), मोहम्मद नूह (75) समेत 6 आरोपी गिरफ़्तार

तमिलनाडु, 8 जून: देश-दुनिया इस समय कोरोना वायरस के संकट से जूझ रही है। इसी बीच तमिलनाडु से मानवता को शर्मशार कर देनें वाला मामला आया है, जी हाँ! आरोप है की, 6 आरोपियों ने मिलकर एक 8 वर्षीय नाबालिग बच्ची के साथ गैंगरेप की घटना को अंजाम दिया। 4 आरोपी उम्रदराज हैं, उम्र 50-60-70 साल से ज्यादा हैं, इन्हें वृद्ध भी कहा जा सकता है जबकि 2 आरोपी नाबालिग हैं। पुलिस ने सभी आरोपियों को गिरफ्तार कर लिया है। ये पूरी घटना तमिलनाडु के कन्याकुमारी स्थित नागरकोविल की है।

मीडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक, एक आठ साल की नाबालिग बच्ची भूखी थी और खाना मांगने के लिए अपनें पड़ोस में गई थी आरोप है की इसी दौरान उसके साथ 6 लोगों ने गैंगरेप किया। आरोपियों में 75 वर्षीय मोहम्मद नूह, 68 वर्षीय अब्दुल ज़फर, 53 वर्षीय ज़ाफर हुसैन और 52 वर्षीय जहदसान शामिल है। जबकि 2 आरोपी नाबालिग हैं।

मातृभूमि में छपी खबर के मुताबिक, पीड़ित नाबालिग लड़की की माँ की मानसिक स्थिति ठीक नहीं है, उसके पिता की भी नौकरी चली गई है, पहले से ही आर्थिक तंगी से जूझ रहे परिवार पर दुखों का पहाड़ टूट पड़ा है, स्थिति दयनीय हो गई है।

बताया जा रहा है की, पीड़ित नाबालिग ने अपनें पिता से बताया था की, कुछ लोगों ने उसके साथ शारीरिक दुर्व्यवहार किया है, उसे दर्द हो रहा है, पिता ने जब जांच पड़ताल की तो बच्च के साथ गैंगरेप की घटना सामनें आई, जिसे सुनकर पिता दंग रह गया। खबरों के मुताबिक, आरोपी कई दिन से नाबालिग को प्रताड़ित कर रहे थे, मौक़ा पाते ही गैंगरेप की घटना को अंजाम दिया।

इस मामलें में जिला एसपी और महिला पुलिस के समक्ष शिकयत दर्ज कराई गई है, जबकि गैंगरेप में शामिल दो आरोपियों को बाल सुधार गृह में रखा गया है, इस घटना के सामनें आने के बाद सोशल मीडिया पर बहुत आक्रोश देखा जा रहा है।

Sponsored Articles
loading...