भारत में बैन हुआ टिक-टॉक,…एक झटके में बेरोजगार हुए सभी टिकटकिये

नई दिल्ली, 29 जून: चीन के साथ LAC पर चल रही तनातनी के बीच केंद्र सरकार ने बड़ा फैसला लेते हुए टिक-टॉक समेत 59 चाइनीज एप पर बैन लगा दिया। इसमें प्रमुख रूप से टिक-टॉक, हेलो, यूसी ब्राउजर, वी चैट समेत 59 चाइनीज एप शामिल हैं। 59 चाइनीज ऐप बैन होनें से टिक-टॉक, वीगो वीडियो लाइकी पर डांस करनें वाले, एक्टिंग करनें वाले, कॉमेडी करनें वाले लोग बेरोजगार हो गए।

सबसे झन्नाटेदार झटका उन लोगों को लगा होगा, जिनके टिक-टॉक पर 10-10 मिलियन फॉलोवर हैं, कुछ टिकटकिये इन्हीं फालोवरों के दम पर बड़ी-बड़ी बातें करते थे, कहते थे टिक-टॉक बैन करनें वाले कोई पैदा नहीं है. लेकिन सोमवार का दिन टिकटकियों के लिए आखिरी दिन साबित हुआ, अर्थात टिक-टॉक भारत में बैन हो गया. वैसे तो चाइना के 59 एप्स बैन हुए हैं लेकिन सबसे ज्यादा चर्चा टिक-टॉक की हो रही है।

Image

बता दें कि – काफी लम्बे समय से भारत में टिक-टॉक को बैन करनें की मांग उठाई जा रही थी, गलवान घाटी में चीन की कायरता के बाद टिक-टॉक समेत सभी चाइनीज अप्स के बैन की मांग बढ़नें लगी। अंततः आज मोदी सरकार ने बड़ा फैसला लेते हुए टिक-टॉक समेत 59 चाइनीज एप बैन कर दिया।

गौरतलब है कि भारत में टिक-टॉक समेत सभी चाइनीज एप्स यूज करनें वालों का डेटा सीधा चाइना जाता था। चीन उस डेटा का क्या करता था कोई पता नहीं रहता था। इन अप्स से चीन की अच्छी खासी कमाई भी होती थी लेकिन भारत ने सोमवार को चीन पर डिजिटल स्ट्राइक कर दी।

टिक-टॉक समेत 59 चाइनीज ऐप बैन करनें के पीछे की वजह बताते हुए केंद्र सरकार ने बयान जारी करके कहा कि ये ऐप्स कुछ ऐसी गतिविधियों में संलिप्त हैं जो भारत की रक्षा, ​सुरक्षा और पब्लिक की संप्रुभता और अखंडता के लिए हानिकारक है, इसलिए इन्हें भारत में बैन कर दिया गया।

loading...