चीनी ऐप टिक-टॉक के खिलाफ मैदान में उतरे बड़े-बड़े दिग्गज, जल्द हो सकता है टिक-टॉक का काम तमाम

नई दिल्ली, 19 मई: चीनी वीडियो मेकिंग ऐप टिक-टॉक के खिलाफ अब बड़े-बड़े दिग्गज मैदान में उतर रहे हैं, सबका मकसद एक ही है की टिक-टॉक जल्द से जल्द भारत में बैन हो। अब इस कड़ी में मशहूर फिल्म अभिनेता परेश रावल का भी नाम जुड़ गया है, रावल ने ट्वीट कर कहा है- BAN टिक-टॉक। इसके अलावा ट्विटर पर टिक-टोक के खिलाफ दिग्गज खूब ट्वीट कर रहे हैं, सोशल मीडिया पर बैन टिक-टॉक कई दिनों से ट्रेंड कर रहा है।

सोशल मीडिया यूजरों का कहना है की टिक-टॉक जिहाद और अफवाहों का मुख्य अड्डा बन चुका है। इसलिए इसे बंद करना ही उचित होगा। लोगों का मानना है की, टिक-टॉक पर 70-80 फीसदी मुस्लिम समुदाय के लोग हैं। जिन्हें टिक-टॉक जिहाद करने के लिए कपड़े जूते और पैसे दिए देता है। ज्यादातर हिन्दू लड़किया जिहादी टिकटकियों की फैन बन जाती हैं और बातचीत करने लगती हैं। फिर मामला मुलाक़ात तक पहुँच जाता है। और फिर बाद में वो जिहाद का शिकार हो जाती हैं। टिक-टॉक पर आये दिन ऐसे वीडियो वायरल होते रहते हैं जो जिहाद को बढ़ावा देते हैं। शायद इसलिए अब सोशल मीडिया टिक-टॉक के खिलाफ मैदान में उतर आई है। साथ देने के लिए दिग्गज भी आ गए हैं।

बता दें कि – टिक टॉक पर हमेशा ही धार्मिक भावनाओं के ठेस पहुंचाने, एसिड अटैक को बढ़ावा देने, भद्दे कंटेंट, सेक्सुअल कंटेट को लेकर आरोप लगते रहे हैं, इसके अलावा कोरोना वायरस को लेकर टिक-टॉक पर कई ऐसे वीडियो वॉयरल हो रहे हैं जिन्हें देखकर कम जागरूप लोग भ्रमित हो जाते हैं और अफवाह का शिकार होने में देर नहीं लगती। इन्ही सब कारणों से टिक-टॉक कई देशों में टिक-टॉक बैन है। सोशल मीडिया पर जिस हिसाब से ट्रेंड चल रहे हैं। अटकलें लगाई जा रही है की में भी जल्द ही टिक-टॉक की छुट्टी हो जाएगी।