दंपत्ति को शौचालय में क्वारंटाइन कराने वाली खबर निकली झूठी, सच्चाई जानकार हैरान रह जायेंगें

गुना, 5 मई: कोरोना वायरस के कहर के बीच हाल ही में सोशल मीडिया पर एक तस्वीर वायरल हुई थी, तस्वीर में एक दंपत्ति एक शौचालय में खाना खाता नजर आ रहा था, इस तस्वीर को कई कांग्रेसी नेताओं और बड़े चैनलों ने भी चलाया था। ये तस्वीरें मध्यप्रदेश के गुना की बताई गयीं। तस्वीरों के माध्यम से भाजपा सरकार पर निशाना साधने की कोशिश की गयी।

दरअसल रविवार को आदिवासी भैयालाल अपने परिवार के साथ राजगढ़ से वापस लौटा था। लेकिन कोरोना के कहर को देखते हुए गांववालों ने उसे गांव में घुसने नहीं दिया। जिसके बाद वो पास के ही आंगनबाड़ी केंद्र में रात में अपने परिवार के साथ ठहर गया। लेकिन शराब के नशे में चूर भैयालाल, वहां के शौचालय में जाकर बैठ गया।

थोड़ी देर बाद उसकी पत्नी भैयालाल को खाना देने वहां पहुंच गई, तो  नशे में धुत भैयालाल ने कहा मैं यहीं ( शौचालय ) में खाना खोएंगा। इसी दौरान किसी ने शौचालय में खाना खाते वक्त उसकी फोटो खींची और वायरल कर दी। ये बात खुद भैयालाल ने भी प्रशासनिक वीडियोग्राफी के दौरान मानी है कि वो शराब के नशे में चूर था इसलिए उसे नहीं पता कि वो कहां जाकर बैठा है। तो पूरा मामला पहले देखने में कुछ और था लेकिन बाद में कुछ और ही सामने आया। यानि सोशल मीडिया पर जो भी आए उस पर आंख मूंद कर यकीन नहीं करना चाहिए।

इसके अलावा भैयालाल जिस शौचालय में खाना खा रहा था वो राघोगढ़ विधानसभा क्षेत्र में आता है, यहाँ के विधायक जयवर्धन सिंह है जो कांग्रेस नेता हैं। इससे पहले कई बार दिग्विजय सिंह भी यहाँ के विधायक रह चुके हैं।

loading...