कोरोना का कहर: प्लाज्मा थैरेपी के इलाज से महाराष्ट्र में पहले मरीज की हुई मौत

महाराष्ट्र, 1 मई: देशभर में मचे कोरोना कहर के बीच अचानक खबर आई की प्लाज्मा थैरेपी से कोरोना मरीज ठीक हो सकते हैं। कुछ लोगों ने प्लाज्मा डोनेट करना भी शुरू कर दिया। अब महाराष्ट्र से खबर आ रही है की प्लाज्मा थेरेपी लेने वाले मरीज की मौत हो गई है।

मीडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक़, मुंबई के लीलावती अस्पताल में प्लाज्मा थैरेपी के चार दिन बाद कोरोना संक्रमित मरीज की मौत हो गई। महाराष्ट्र में कोरोना के इलाज में प्लाज्मा थैरेपी का ये पहला मामला था। डॉक्टरों ने बताया कि 25 अप्रैल को मरीज को प्लाज्मा थैरेपी दी गई थी। उसके बाद हालत में थोड़ा सुधार हुआ लेकिन, 29 अप्रैल को मौत हो गई।

गौरतलब है की कुछ जमातियों ने प्लाज्मा डोनेट किया तो वामपंथी मीडिया ने इसे जमातियों का क्रांतिकारी कदम बताया। अब यही घातक हो रहा है। स्वास्थ्य मंत्रालय बार-बार आगाह कर रहा था की अभी इसकी पुष्टि नहीं हुई है की प्लाज्मा थैरेपी कोरोना में कारगर है। ICMR इसपर रिसर्च कर रहा है।

loading...