असम: शांतिप्रिय समुदाय के लोगों ने की सब्जी विक्रेता सनातन डेका की मॉब लिंचिंग, मौत

असम, 25 मई: कोरोना संकट और लॉकडाउन के बीच देश के अलग-अलग हिस्सों से कई हैरान कर देने वाली खबर लगातार आ रही हैं। इसी कड़ी में अब असम से एक खबर आई है, जहाँ मामूली सी बात पर विशेष समुदाय के लोगों ने मिलकर एक सब्जी विक्रेता की पीट-पीटकर मॉब लिंचिंग कर दी।

मीडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक, सनातन डेका लॉकडाउन के दौरान साईकिल से सब्जी बेंचा करते थे, एक दिन सनातन की साइकिल शांतिप्रिय समुदाय के लोगों के कार में लग गई। इसके बाद कई साथियों के साथ मिलकर कार मालिक शांतिप्रिय समुदाय के लोगों ने सनातन डेका को खूब मारा-पीटा-पीटा। अस्पताल पहुँचते-पहुँचते सनातन डेका की मौत हो गई। ये पूरा मामला असम के कामरूप जिले में मोनाहकुची का है।

पुलिस ने इस मामलें में दो मुख्य आरोपियों फैजुर हक़ और आईसुफ़ उद्दीन अहमद को गिरफ्तार कर लिया है। इन दोनों पर आईपीसी की धारा 480/2020 यू / एस 120 (बी) / 302 के तहत मामला दर्ज किया है। सनातन डेका की ह्त्या में शामिल अन्य आरोपियों की तलाश की जा रही है।

स्थानीय ख़बरों के अनुसार, सनातन डेका एक गरीब परिवार से ताल्लुक रखते थे, फैक्ट्री में काम करके अपने परिवार को पालते थे, लॉकडाउन के कारण फैक्ट्री बंद हो गई तो डेका खुद का और परिवार का पेट पालनें के लिए साईकिल से सब्जी बेंचना शुरू कर दिए। लेकिन मामूली सी बात बात पर शांतिप्रिय समुदाय के लोगों ने सनातन डेका की पीट-पीटकर ह’त्या कर दी। पुलिस इस मामलें की जांच कर रही है।