लॉकडाउन में बला’त्का’र और ए’सिड अटैक को बढ़ावा दे रहा टिक-टॉक, होगी कड़ी कार्यवाही: गृहमंत्री महाराष्ट्र

महाराष्ट्र, 23 मई: कोरोना वायरस संकट और और लॉकडाउन के बीच चीनी शार्ट वीडियो ऐप टिक-टॉक के खिलाफ विरोध अब बढ़ता जा रहा है. महाराष्ट्र के गृहमंत्री अनिल देशमुख ने भी टिक-टॉक पर सवाल उठाते हुए कहा की, लॉकडाउन में टिक-टॉक बला’त्कार और एसिड अटैक को बढ़ावा दे रहा है। गौरतलब है की इन दिनों सोशल मीडिया पर भी टिक-टॉक के खिलाफ अभियान चल रहा है।

महाराष्ट्र के गृहमंत्री अनिल देशमुख ने कहा की, लॉकडाउन शुरू होनें के बाद साइबर अपराधों में बढ़ोतरी हुई है, उन्होंने कहा, टिक-टॉक के जरिये एसिड अटैक और बला’त्कार को बढ़ावा देने वाले काफी वीडियो वायरस हुए हैं. गृहमंत्री ने कहा, राज्य साइबर क्राइम विभाग उल्टा-सीधा वीडियो पोस्ट करनें वालों के खिलाफ जांच कर रहा है और दोषी पाए जानें पर कड़ी कार्यवाही भी जाएगी। किसी को बख्सा नहीं जाएगा।

महाराष्ट्र में कोरोना वायरस के मामलें में तेजी से वृद्धि हो रही है, राज्य में कोरोना मरीजों की संख्या 44582 हो गई है जबकि इस खतरनाक महामारी से अबतक 1517 लोगों की मौत हो चुकी है।

बता दें कि – लॉकडाउन के दौरान टिक-टॉक पर कई विवादित वीडियो वायरल हुई, इन वीडियोज के खिलाफ एफआईआर भी दर्ज हुई सोशल मीडिया पर पिछले कई हफ़्तों से टिक-टॉक को इण्डिया में बैन करानें की मुहिम चल रही है, इस मुहिम का बॉलीवुड स्टार परेश रावल, मुकेश खन्ना और एक्ट्रेस पायल रोहतगी समर्थन भी कर चुकी हैं।