अर्नब गोस्वामी के खिलाफ सुप्रीम कोर्ट पहुंची उद्धव ठाकरे सरकार, पढ़ें

नई दिल्ली, 4 मई: रिपब्लिक मीडिया नेटवर्क के संस्थापक और वरिष्ठ पत्रकार अर्नब गोस्वामी के खिलाफ महाराष्ट्र की उद्धव ठाकरे सरकार सुप्रीम कोर्ट पहुँच गई है। अर्नब गोस्वामी ने पालघर में संतों की ह्त्या पर सवाल क्या उठाया, कांग्रेस पार्टी और महाराष्ट्र सरकार अर्नब के पीच हाथ धोकर पड़ गई है।

सुप्रीम कोर्ट में महाराष्ट्र सरकार ने दलील दी है की, अर्नब गोस्वामी सुप्रीम कोर्ट की तरफ से दी गई गिरफ्तारी से राहत का दुरुपयोग कर रहे हैं। अपने कार्यक्रम के ज़रिए पुलिस पर ही इल्ज़ाम लगा रहे हैं। जांच अधिकारियों को डराने की कोशिश कर रहे हैं। सरकार ने कहा, इस मामलें पर सुप्रीम कोर्ट संज्ञान ले।

बता दें कि – पालघर में दो संतों की पुलिस के सामने पीट-पीटकर ह्त्या कर दी गई थी। इस मामलें पर कांग्रेस अध्यक्ष सोनिया गांधी की चुप्पी पर अर्नब गोस्वामी ने सवाल उठाया था। इसके बाद कांग्रेस ने अर्नब के खिलाफ सैकड़ों एफआईआर दर्ज करा दी। यही नहीं जानलेवा हमला भी करवाया। गिरफ़्तारी से राहत के लिए अर्नब गोस्वामी सुप्रीम कोर्ट पहुँच गए थे।

सुप्रीम कोर्ट ने अर्नब गोस्वामी की गिरफ़्तारी पर 3 हफ्ते तक रोक लगा दी। इसके बाद मुंबई पुलिस ने अर्नब गोस्वामी से 12 घंटे लगातार पूछताछ की। अपराधियों की तरह। इसके बाद अर्नब गोस्वामी ने अपने चैनल रिपब्लिक भारत के चर्चित शो ‘पूछता है भारत’ में पूछा की, मेरे ऊपर जानलेवा हमला करने हमलावरों से कितने घंटे पूछताछ हुई। इसके अलावा अर्नब ने पुलिस की भूमिका पर भी सवाल उठाया। यही सब जोड़ बटोरकर अब महाराष्ट्र सरकार अर्नब के खिलाफ सुप्रीम कोर्ट पहुँच चुकी है।

Sponsored Articles
loading...