दुखद: हंदवाड़ा में वीरगति को प्राप्त हुए कर्नल आशुतोष शर्मा, आतंकियों पर कहर बनकर बरसते थे

हंदवाड़ा, 3 मई: जम्मू कश्मीर के हंदवाड़ा में आतंकियों के साथ हुई मुठभेड़ में दो बड़े अफसर सहित भारतीय सेना के 5 बहादुर जवान वीरगति को प्राप्त हुए। हालांकि, उन्होंने दो आतकंवादियों को मौत के घाट उतार दिया।

मुठभेड़ में शहीद जवानों में कर्नल आशुतोष शर्मा का नाम भी शामिल है, जिनकी अगुआई में भारतीय सुरक्षाबलों ने आतंकियों के खिलाफ कई ऑपरेशनों को अंजाम दिया है और उन्हें सबक सिखाया है। एक तरह से कहें तो कर्नल आशुतोष शर्मा आतंकियों के लिए खौफ का दूसरा नाम थे।

बता दें कि – 21 राष्ट्रीय राइफल्स यूनिट के कमांडिंग ऑफिसर रहे कर्नल आशुतोष अपने आतंकरोधी अभियानों में साहस और वीरता के लिए दो बार वीरता पुरस्कार से नवाजे जा चुके हैं। इतना ही नहीं, शहीद आशुतोष कर्नल रैंक के ऐसे पहले कमांडिंग अफसर थे, जिन्होंने पिछले पांच साल में आतंकियों के साथ मुठभेड़ में अपनी जान गंवाई हो। सेना के अधिकारियों के मुताबिक, शहीद आशुतोष शर्मा को कमांडिंग ऑफिसर के तौर पर अपने कपड़ों में ग्रेनेड छिपाए हुए आतंकी से अपने जवानों की जिंदगी बचाने के लिए वीरता मेडल से सम्मानित किया जा चुका है।

गौरतलब है कि आज यानी रविवार को आशुतोष शर्मा के अलावा, हंदवाड़ा एनकाउंटर में मेजर अनुज सूद, नायक राजेश और लायंस नायक दिनेश ने भी जान गंवाई हैं। इसके अलावा इस अभियान में दो आतंकी भी ढेर हुए हैं। लॉकडाउन के दौरान कश्मीर में आतंकी गतिविधियां बढ़ गई है।