गुड़ न्यूज़: इंडियन आर्मी ऑफिसर मेजर सुमन को मिला “UN मिलिट्री जेंडर एडवोकेट अवॉर्ड”

नई दिल्ली, 29 मई: भारतीय सेना की महिला अधिकारी मेजर सुमन गवानी को “UN मिलिट्री जेंडर एडवोकेट अवॉर्ड” के लिए नामित किया गया है। पहली बार यह अवॉर्ड किसी भारतीय शांतिदूत को मिलनें जा रहा है।

संयुक्त राष्ट्र प्रमुख एंटेनियों गुटेरेस ने मेजर सुमन गवानी की तारीफ करते हुए उन्हें पॉवरफुल रोल मॉडल करार दिया। मेजर सुमन के अलावा इस अवॉर्ड से ब्राजील की नेवी ऑफिसर कार्ला मोंटेइरो भी सम्मानित की जाएंगी।

भारत और ब्राजील की दोनों महिला सेना अफसर इस प्रतिष्ठित अवॉर्ड से आज यानि 29 मई को सम्मानित की जाएँगी। यूएन पीसकीपर इंटरनेशनल डे के मौके पर दोनों देशों की शांतिदूत यह पुरस्कार हासिल करेंगी।

बता दें कि, मेजर सुमन गवानी इस सम्मान समारोह में शामिल होनें के लिए न्यूयॉर्क जानें वाले थी लेकिन कोरोना वायरस महामारी के कारण नहीं जा पायीं। अब वो वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के जरिये इस अवार्ड को स्वीकार करेंगी।

आपकी जानकारी के लिए बता दें कि, मूल रूप से उत्तराखंड के गढ़वाल की रहने वाली मेजर सुमन गवानी मिलिट्री ऑब्जर्बर हैं, सुमन को एक यूएन मिशन के तहत दक्षिणी सूडान में तैनात किया गया था, जहाँ उन्होनें अपने फर्ज को भलीभांति निभाया। यहाँ उन्होंने यौन हिंसा से संघर्षों पर यूएन मिलिट्री ऑब्जर्बर को ट्रेनिंग दी। यही नहीं, मेजर सुमन ने वहां की सेना को भी ट्रेनिंग दी। इसी सब को देखते हुए मेजर सुमन को “UN मिलिट्री जेंडर एडवोकेट अवॉर्ड” दिया गया। बता दें की, यूएन के शांति मिशनों में भारतीय सेना का योगदान पहले भी बढ़चढ़कर रहा है।

loading...