आंध्रप्रदेश: मॉस्क-PPE किट पर उठाया सवाल तो डॉक्टर को सस्पेंड करके मेंटल हॉस्पिटल में डाल दिया गया

विशाखापत्तनम, 18 मई: वैश्विक महामारी कोरोना वायरस पूरी दुनिया में कहर बरपा रही है, कोरोना के खिलाफ जंग में आगे रह कर मोर्चा संभालने वाले डॉक्टरों और चिकित्साकर्मियों को जहां सम्मान देने और उनका हौसला बढ़ाने की बातें हो रही हैं। वहीं, आंध्र प्रदेश में डॉक्टरों के लिए N-95 मास्क की कमी और पीपीई किट पर सवाल करने वाले एक डॉक्टर सस्पेंड करके मेंटल हॉस्पिटल में डाल दिया है। पुलिसकर्मियों ने डॉक्टर के साथ बदसुलूकी भी की।

मेंटल हॉस्पिटल के डॉक्टरों के मुताबिक प्रारंभिक जांच में सामने आया है कि डॉ. के. सुधाकर राव गंभीर मानसिक बीमारी से पीड़ित हैं और उसी का इलाज किया जा रहा है। शनिवार को उन्होंने सड़क पर हंगामा किया था, जिसके बाद पुलिस ने उन्हें किंग जॉर्ज अस्पताल में भर्ती करा दिया था, जहां डॉक्टरों ने उन्हें शराब के नशे में पाया था। इसके बाद अस्पताल के चिकित्सा अधीक्षक ने उन्हें सरकारी मानसिक रोग चिकित्सालय में रेफर कर दिया था।

विशाखापत्तनम के पुलिस आयुक्त की तरफ से जारी बयान में कहा गया है कि डॉ. राव द्वारा सड़क पर हंगामा करने की सूचना डायल 100 पर मिली थी। पुलिस मौके पर पहुंची तो उनकी पहचान डॉ. राव के रूप में हुई, जिन्हें नरसीपतनम के सरकारी अस्पताल से निलंबित कर दिया गया है। जबकि कुछ मीडिया रिपोर्ट्स इससे अलग हैं।