कांग्रेस नेता पंकज पुनिया को सुप्रीम कोर्ट से झटका, भगवान राम और भगवा पर किया था अमर्यादित ट्वीट

नई दिल्ली, 29 मई: भगवान राम और भगवा पर अमर्यादित ट्वीट करनें वाले कांग्रेस नेता नेता पंकज पुनिया को को सुप्रीम कोर्ट से बड़ा झटका लगा है।

बता दें कि, कांग्रेस नेता पंकज पुनिया ने सुप्रीम कोर्ट में याचिका दायर कर हरियाणा के करनाल में दर्ज FIR में गिरफ्तारी का हवाला देकर लखनऊ, MP के सिवनी में दर्ज FIR रद्द की मांग की थी, परन्तु सुप्रीम कोर्ट ने एफआईआर रद्द करनें से इनकार कर दिया।

पंकज पुनिया को झटका देते हुए सुप्रीम कोर्ट ने कहा की, यहाँ से एफआईआर नहीं रद्द हो सकती, चाहें तो आप हाईकोर्ट में अर्जी लगा सकते हैं।

क्या है पूरा मामला
बता दें कि – उत्तर प्रदेश कांग्रेस महासचिव पंकज पुनिया ने मंगलवार (मई 19, 2020) को ट्वीट करके ‘संघियों’ को बलात्कारी बताया था। यही नहीं भगवान श्रीराम के नाम का गलत इस्तेमाल किया और उत्तर प्रदेश की योगी आदित्यनाथ सरकार की आलोचना करते हुए उनके खिलाफ बेहद ही आपत्तिजनक शब्द लिखे थे।

पंकज पुनिया ने ट्वीट में लिखा, कॉन्ग्रेस सिर्फ़ मजदूरों को अपने खर्च पर उनके घरों तक पहुँचाना चाहती थी। बिष्ट सरकार ने राजनीति शुरू की। भगवा लपेटकर नीच काम संघी ही कर सकते हैं। ये कब्र से निकालकर लाशों का बलात्कार करने वाले लोग हैं। बेटियों के सामने पैंट उतारकर जय श्रीराम के नारे लगाने वाले हस्तमैथुन करने वाले लोग हैं।

पंकज पुनिया के इस ट्वीट के बाद सोशल मीडिया पर उबाल आ गया था और अरेस्ट पंकज पुनिया का ट्रेंड चल रहा था। देशभर में पंकज पुनिया के खिलाफ कई एफआईआर भी दर्ज हो गई थी, अंततः करनाल पुलिस ने पंकज पुनिया को गिरफ्तार कर लिया। फिलहाल कोर्ट ने पुनिया को 14 दिन के लिए जेल भेजा है। पुनिया अभी जेल में ही हैं।

loading...