NDTV ने भारतीय सेना के खिलाफ फैलाई फेक न्यूज़, ट्विटर पर टॉप ट्रेंड हुआ #BanNDTV

नई दिल्ली, 24 मई: प्रोपोगैंडा फैलाने के लिए कुख्यात एनडीटीवी नामक न्यूज़ चैनल ने भारतीय सेना के खिलाफ एक बार फिर फेक न्यूज़ फैलाई है, जी हाँ? , एनडीटीवी ने झूठे ही कहा था की, भारतीय सैनिकों को चीनी सैनिकों ने बंधक बना लिया। ये खबर पूरी तरह झूठी थी, सेना ने भी इसका खंडन किया। एनडीटीवी की इस हरकत के बाद सोशल मीडिया एनडीटीवी के खिलाफ मैदान में उतर गई है।

सोशल मीडिया के बहुचर्चित प्लेटफॉर्म ट्विटर पर इस समय #BanNDTV ट्रेंड हो रहा है, इस ट्रेंड पर अबतक साढ़े 6 हजार से ज्यादा ट्वीट हो चुके हैं, इस ट्रेंड के माध्यम से लोग एनडीटीवी के खिलाफ अपना गुस्सा व्यक्त कर रहे हैं।

बता दें की, एनडीटीवी ने 23 मई को एक खबर चलाई थी की, पिछले हफ्ते लद्दाख में चीनी सेना ने भारतीय सैनकों को बंधक बना लिया है, बंधक बनानें के बाद फिर छोड़ दिया गया। इस खबर को एनडीटीवी ने अपनें सूत्रों द्वारा चलाई थी।

एनडीटीवी की इस खबर को भारतीय सेना ने पूरी तरह से गलत बताया है। भारतीय सेना की तरफ से प्रवक्ता अमन आनंद ने कहा की, कुछ मीडिया संस्थानों द्वारा चीनी सैनिकों द्वारा भारतीय सैनिकों को बंधक बनाये जानें की खबर चल रही है, लेकिन ये खबर पूरी तरह गलत है। हम ऐसी खबरों का खंडन करते हैं।

सेना के प्रवक्ता ने कहा, जब मीडिया इस तरह की बेबुनियाद ख़बरों को प्रकाशित करता है तो केवल राष्ट्रीय हित का नुकसान होता है। इसलिए मीडिया को ऐसे मामलों पर फर्जी ख़बरें छापने से बचना चाहिए।

loading...