प्रतापगढ़: 8 वर्षीय मासूम की ईलाज के दौरान मौत, सा’हिल, वसी’म और इ’क’लाख ने मारी थी गोली

प्रतापगढ़, 28 मई: फायरिंग में घायल हुई आठ वर्ष की मासूम लाली पांडेय पुत्री प्रेमचंद्र पांडेय ने बुधवार को प्रयागराज में अस्पताल में दम तोड़ दिया। इस मासूम बालिका को गाँव के ही सा’हिल, वसी’म और इ’क’लाख ने गोली मार दी थी। ये पूरा मामला उत्तर प्रदेश के प्रतापगढ़ जिले के रानीगंज का है। स्थानीय मीडिया के मुताबिक़, मासूम को गोली साहिल ने मारी थी, साथ में वसी’म और इ’क’लाख भी मौजूद थे।

फायरिंग में घायल मासूम बच्ची का लगभग एक हफ्ते से प्रयागराज के एसआरएन में ईलाज चल रहा था, लेकिन अब मासूम जिंदगी की जंग हार गई, बच्ची की मौत की सूचना मिलते ही परिवार में कोहराम मच गया। तनाव को देखते हुए इलाके में भारी पुलिसबल तैनात कर दिया गया है. इस मामलें में प्रतापगढ़ पुलिस ने तीनों आरोपियों को गिरफ्तार कर जेल भेज दिया है।

क्या है पूरा मामला।

दरअसल बीते 20 मई 2020 को रानीगंज थाना क्षेत्र के मुनि का पुरवा गांव में प्रेमचंद्र पांडेय की पुत्री आठ वर्षीय लाली पांडेय हैंडपंप पर नहा रही थी। इसी दौरान गाँव के ही सा’हिल, वसी’म और इ’क’लाख पहुंचे। पानी को लेकर इन तीनों का मासूम बच्ची के साथ कुछ विवाद हुआ। इसके बाद इन दबंगो ने मासूम लाली पांडेय को गोली मार दी और फरार हो गए।

फायरिंग की आवाज सुनने के बाद परिजन बाहर आये तो खून से लथपथ पड़ी लाली को देखकर दंग रह गए। आनन्-फानन में परिजन लाली को लेकर नजदीकी अस्पताल पहुंचे। वहां से डॉक्टर ने प्रयागराज के लिए रेफर कर दिया। इसके बाद परिजन तुरंत एम्बुलेंस से प्रयागराज के एसआरएन हॉस्पिटल पहुंचे। इस अस्पताल में लाली पांडेय कई दिनों तक जिंदगी की जंग लड़ी और अंत में हार गई। मौत हो गई।

मृतक पिता की तहरीर पर पुलिस ने गाँव के ही सा’हिल, वसी’म और इ’क’लाख पर मुकदमा दर्ज किया। पुलिस ने मामलें में सक्रियता दिखाते हुए दो आरोपियों को कुछ घंटे बाद ही दबोच लिया जबकि फरार चल रहे तीसरे आरोपी इकलाख को गिरफ्तार करके जेल भेज दिया। गाँव का माहौल खराब न हो इसके लिए इलाके में पुलिस तैनात कर दी गई है।

loading...