कोरोना: महंगा पड़ा टिक-टॉक पर अफवाह फैलाना, योगी सरकार ने कई टिकटकियों पर दर्ज की FIR, कई रडार पर

लखनऊ, 8 अप्रैल: देश में तेजी से पैर पसार रहे कोरोना वायरस से संक्रमितों की संख्या आज 5 हजार के आँकड़े को पार कर गई है। इसमें तबलीगी जमात की घटना के बाद सोशल मीडिया पर निरंतर सवाल भी उठने शुरू हो गए हैं. दरअसल, लॉकडाउन के बावजूद देखा जा रहा है कि लोग निरंतर लॉकडाउन के नियमों का उल्लंघन कर रहे हैं और कोरोना को लेकर सोशल मीडिया पर हर तरह की अफवाहों को बढ़ावा दे रहे हैं। इसमें खासकर मुस्लिम समुदाय के लोग शामिल हैं।

कोरोना वायरस को लेकर सोशल मीडिया के अलग-अलग प्लेटफॉर्मों पर अफवाह फैलाने वालों के खिलाफ उत्तर प्रदेश की योगी आदित्यनाथ सरकार सख्त हो गई है। इसका अंदाजा इसी से लगाया जा सकता है की सोशल मीडिया पर अफवाह फैलाने वाले 68 लोगों को चिन्हित किया गया है। इसकी जानकारी उत्तर प्रदेश के मुख्य अपर सचिव गृह अवनीश अवस्थी ने दी है।

अवस्थी ने जानकारी देते हुए बताया की, कल से आज तक फेक न्यूज के 11 मामले आए हैं, जिन पर हम अपने स्तर से कार्रवाई कर रहे हैं और कुछ में एफ.आई.आर. भी दर्ज कर रहे हैं। इसके अलावा उन्होंने कहा की, फेक न्यूज के अंतर्गत अब तक की गई कार्रवाई के अनुसार फेसबुक के 21 मामले, ट्विटर के 18 मामले, टिकटाॅक के 16 और व्हाट्सएप के 11 मामले सहित कुल 66 मामले चिन्हित किए हैं।